सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) लड़की के नाम पर जमा करें 1000 रुपये शादी के समय पाएं 6,00000 रूपये

Table of Contents

सुकन्‍या समृद्धि योजना क्या है? (what is sukanya samriddhi yojna?)

sukanya samriddhi yojna in hindi

सुकन्‍या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) जिसे पीएम सुकन्या योजना ( pm sukanya yojana ) के नाम से भी जाना जाता है, भारत सरकार की एक छोटी बचत योजना है, जिसे “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओअभियान के तहत लांच किया गया है। जिसके अंतर्गत आप अपनी बेटी के नाम से खाता खोल सकते हैं और हर महीने कुछ धनराशि इस खाते में अपनी बेटी के नाम से जमा कर सकते हैं जो बेटी के बड़ी होने पर उसके उच्च शिक्षा के लिए या फिर उसकी शादी के लिए काम में आएगी।

इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए बच्ची की उम्र 10 साल से कम होनी चाहिए।

बहुत छोटे से अमाउंट के साथ खुलने वाला सुकन्या योजना ( sukanya yojana ) खाता दरअसल उन परिवारों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है जो छोटी-छोटी बचत के जरिये बेटी की शादी या उच्च शिक्षा के लिए एकमुश्त रकम जमा करना चाहते हैं। छोटी बचत स्कीम में सुकन्या योजना सबसे बेहतर ब्याज दर वाली स्कीम है।

सुकन्या समृद्धि योजना (sukanya samriddhi yojna ) उन कम आय वर्ग वाले लोगों के लिए बहुत अच्छी स्कीम है जो शेयर बाजार में पैसे लगाने का रिस्क नही ले सकते। ‘फिक्स इनकम के साथ पूंजी की सेफ्टी इस स्कीम की खासियत है.’

सुकन्या समृद्धि योजना में क्या ब्याज दर मिलती है?

sukanya samridhi yojna interest rate

किसी भी छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज भारत सरकार तय करती है। इसी तरह इस योजना में मिलने वाले ब्याज की दर भी फिक्स नहीं होती बल्कि समय-समय पर बदलती रहती है जिसे सरकार डिसाइड करती है फिलहाल इस समय सुकन्‍या समृद्धि योजना में 7.6% के दर से ब्याज दिया जा रहा है लेकिन इससे पहले इसमें 9.2% तक का ब्याज भी मिला है।

सरकार इस स्कीम (sukanya yojana) के लिए हर तिमाही में ब्याज दर डिसाइड करती है जो की घटती बढ़ती रहती है। सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर दिए जाने वाले ब्याज की दर अन्य स्कीम की तुलना में अधिक होता है।

sukanya samriddhi yojna interest caculation

इस योजना में अब तक दिए गए ब्याज की दर

  • 1 अप्रैल 2014:  9.1%
  • 1 अप्रैल 2015:  9.2%
  • 1 अप्रैल 2016 से 30 जून 2016:  8.6%
  • 1 जुलाई 2016 से 30 सितम्बर 2016:  8.6%
  • 1 अक्टूबर 2016 से 31 दिसम्बर 2016:  8.5%
  • 1 जुलाई 2017 से 31 दिसंबर 2017:  8.3%
  • 1 जनवरी 2018 से 31 मार्च 2018 :  8.1%
  • 1 अप्रैल 2018 से 30 जून 2018 :  8.1%
  • 1 जुलाई 2018 से 30 सितंबर 2018 :  8.1%
  • 1 अक्टूबर 2018 से 31दिसंबर 2018 : 8.5%
  • 1 जनवरी 2019 से 31 मार्च 2019 :  8.5%

सुकन्या समृद्धि योजना स्कीम डिटेल्स ( sukanya samriddhi yojana scheme details )

सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) के तहत खाता किसी लड़की के जन्म लेने के बाद 10 साल से पहले की उम्र तक खुलवाया जा सकता है चालू वित्त वर्ष ( 2021-22 ) में सुकन्या समृद्धि योजना के एकाउंट को कम से कम 250 रुपये प्रति माह के जमा के साथ खोला जा सकता है और इसमें अधिकतम 1.5 लाख रुपये प्रति माह तक जमा कराये जा सकते हैं।

इसे भी देखें: ई श्रम पोर्टल क्या है? ई श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कैसे करवाएं? जानें पूरी प्रोसेस हिंदी में

सुकन्या समृद्धि योजना का एकाउंट कहां पर खुलवाएं?

सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya yojana ) का एकाउंट किसी भी नजदीकी पोस्ट ऑफिस या फिर इस योजना के लिए अधिकृत बैंक शाखा में खोला जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना खाते में कब तक पैसे जमा करने पड़ेंगे?

सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) के तहत खाता खोलने के बाद कम से कम 15 साल तक ( जिसे suknya yojna का lock in period भी कहते हैं ) पैसे जमा कराना जरूरी है और उसके बाद खाता खुलने के 18 साल पूरा होने के बाद बेटी की शादी होने तक अथवा खाता खोलने के 21 साल पूरा होने तक खाते को चलाया जा सकता है।

उदाहरण के तौर पर यदि आपके बेटी की उम्र अभी 1 वर्ष है तो आपको उसके खाते में कम से कम 15 वर्ष तक पैसे जमा करने होंगे और इसके 3 साल के बाद बेटी के 18 वर्ष के पूरा होने के बाद खाता मेच्योर होगा।

वहीं 8 साल की किसी बच्ची के मामले में जब वह बच्ची 23 साल की हो जाये तब तक पैसे जमा करने होंगे और बच्ची के 23 से 29 साल के होने तक जब समृद्धि योजना ( samruddi yojane ) खाता मैच्योर हो जाये, उसमें जमा रकम पर ब्याज मिलता रहेगा।

सुकन्या योजना ( pm sukanya yojana ) में पैसे कब निकाल सकते हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) खाते से 18 साल की उम्र के बाद बेटी की उच्च शिक्षा के खर्च के लिए अधिकतम 50% तक की राशि निकाली जा सकती है या फिर खाता में मेच्योर होने पर यानी 21 वर्ष पूरा होने पर बेटी की शादी के खर्चे के लिए आप पूरी जमा राशि निकाल सकते हैं।

यह खाता बेटी की शादी की तारीख से एक महीने पहले या तीन महीने बाद मेच्योर होता है यानी इस समय आप अकाउंट से पैसे निकाल सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खोलने के नियम

  • सुकन्या योजना ( sukanya yojana ) खाता लड़की के माता-पिता या उसके कानूनी अभिभावक द्वारा लड़की के नाम से खोला जाता है।
  • इस योजना के अंतर्गत अकाउंट लड़की के पैदा होने से लेकर 10 साल की उम्र के होने से पहले तक ही खोला जा सकता है।
  • इस योजना ( sukanya yojana ) का अंतर्गत एक बच्ची के लिए एक ही खाता खोला जा सकता है यानी आप एक बच्ची के लिए दो खाता नहीं खोल सकते।
  • इस योजना के अंतर्गत आप केवल अपनी दो बेटियों का ही खाता खुलवा सकते हैं।
  • यदि आपकी जुड़वाँ बेटियां हैं तो आप दो से अधिक खाते खुलवा सकते हैं।
  • इस योजना में 80C के कानून के अनुसार किया गया निवेश कर मुक्त हैं।
  • इसके साथ साथ परिपक्वता और ब्याज राशि भी कर मुक्त हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना का खाता खुलवाने के लिए हमें किन किन डॉक्यूमेंट की जरूरत पड़ेगी?

sukanya samriddhi yojna एकाउंट खोलने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट्स

सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) खाता खोलने के वक्त बच्ची का बर्थ सर्टिफिकेट पोस्ट ऑफिस या बैंक में देना जरूरी है। इसके साथ ही बच्ची और अभिभावक के आइडेंडेंटी प्रूफ ( पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड, राशन कार्ड या ड्राइविंग लाइसेंस) और एड्रेस प्रूफ ( पते का प्रमाण ) और अभिभावक का फोटोग्राफ भी देना जरूरी है।

Also Read: what is e-sim, how does e-sim work, how to get e sim and how to activate e sim

सुकन्या समृद्धि योजना में अकाउंट खोलने के लिए कम से कम कितने रुपए चाहिए?

sukanya samriddhi yojna एकाउंट खोलने के लिए कम से कम 250 रुपये जमा करने होते हैं, लेकिन बाद में इसमें 100 रुपये के गुणक में पैसे जमा कराये जा सकते हैं। किसी भी एक वित्त वर्ष में कम से कम 250 रुपये जरूर जमा कराया जाना चाहिए। किसी एक वित्त वर्ष में SSY खाते में एक बार या कई बार में अधिकतम 1.5 लाख रुपये से अधिक जमा नहीं कराए जा सकते।

सुकन्या समृद्धि योजना खाते में पैसे खाता खोलने के दिन से 15 साल तक जमा करना होता है।

यदि हम सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में पैसे समय पर नहीं जमा करा पाए तब क्या होगा?

यदि किसी कारण से किसी सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) अकाउंट में जो कम से कम सालाना जमा राशि है ( जो कि लगभग ₹250 प्रति साल है ) वो भी जमा नहीं हो पाई है, तो वो अकाउंट डिफॉल्ट माना जाएगा और ऐसे एकाउंट को 50 रुपये सालाना की पेनल्टी देकर दुबारा एक्टिवेट कराया जा सकता है। इसके साथ ही हर साल के लिए कम से कम जमा कराई जाने वाली रकम भी सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में डालनी पड़ेगी।

अगर पेनल्टी नहीं चुकाई गयी तो उस खाते में जमा रकम पर पोस्ट ऑफिस के सेविंग एकाउंट के बराबर ही ब्याज मिलेगा जो अभी करीब चार फीसदी है। अगर सुकन्या समृद्धि योजना खाते पर ब्याज ज्यादा चुका दिया गया है तो उसे रिवाइज भी किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि खाते में हम पैसे किन तरीकों से जमा कर सकते हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) खाते में रकम कैश, चेक के द्वारा, डिमांड ड्राफ्ट ऑनलाइन तरीके से ऑटो डेबिट सिस्टम से या किसी भी ऐसे तरीके से जमा कराई जा सकती है जिसे बैंक स्वीकार करता हो। इसके लिए रकम जमा करने वाले का नाम और एकाउंट होल्डर का नाम लिखना जरूरी है।

sukanya samriddhi yojna खाते में रकम इलेक्ट्रॉनिक ट्रांसफर मोड से भी की जा सकती है, अगर उस पोस्ट ऑफिस या बैंक में ऑनलाइन बैंकिंग सिस्टम मौजूद है।

अगर sukanya samriddhi yojna खाते में रकम चेक या ड्राफ्ट से चुकाई गयी तो रकम खाते में क्लियर होने के बाद से उस पर ब्याज दिया जायेगा, जबकि ई-ट्रांसफर के मामले में डिपॉजिट के दिन से यह गणना की जाएगी।

क्या सुकन्या समृद्धि खाते को मैच्योरिटी से पहले भी बंद किया जा सकता?

हां! अगर sukanya samriddhi yojna में यदि दुर्भाग्यवश खाताधारक की मृत्यु हो जाये तो डेथ सर्टिफिकेट को दिखाकर इस खाते को बंद कराया जा सकता है। इसके बाद सुकन्या समृद्धि योजना खाते में जमा रकम बच्ची के अभिभावक को ब्याज सहित दे दी जाएगी।

इसके अलावा जिन्होंने अपनी बेटी के लिए खाता खुलवाया, यदि दुर्भाग्यवश, उनकी यानी की माता-पिता की मृत्यु हो जाती हैं तो भी इस खाते को बंद करवाया जा सकता हैं।

दूसरे मामलों में सुकन्या समृद्धि खाते को खोलने से पांच साल के बाद कभी भी बंद किया जा सकता है। यह भी कई परिस्थितियों में किया जा सकता है, जैसे जीवन को खतरे वाली बीमारियों के मामले में।

इसके बाद भी अगर किसी भी दूसरे कारण से अकाउंट बंद किया जा रहा हो तो इसकी इजाजत दी जा सकती है, लेकिन उस पर ब्याज सेविंग एकाउंट के हिसाब से मिलेगा।

इसे भी देखें: घर बैठे ऑनलाइन अपने फोन से गैस सिलेंडर कैसे बुक करवाए जाने पूरी डिटेल हिंदी में | Online Gas Booking

क्या सुकन्या समृद्धि योजना के खाते को कहीं और ट्रांसफर किया जा सकता है?

sukanya samriddhi yojna अकाउंट पूरे भारत में कहीं भी ट्रांसफर किया जा सकता है, अगर अकाउंट होल्डर एकाउंट खोलने की मूल जगह से कहीं और शिफ्ट हो गया हो। अकाउंट ट्रांसफर फ्री ऑफ कॉस्ट है, हालांकि इसके लिए एकाउंट होल्डर या उसके माता-पिता/अभिभावक के शिफ्ट होने का प्रूफ दिखाना होगा।

अगर एकाउंट होल्डर या उसके माता-पिता/अभिभावक के शिफ्ट होने का कोई प्रूफ नहीं दिखाया गया तो अकाउंट ट्रांसफर के लिए पोस्ट ऑफिस या बैंक को 100 रुपये फीस चुकाना पड़ेगा जहां खाता खोला गया है।

जिस बैंक या पोस्ट ऑफिस में ऑनलाइन बैंकिंग की सुविधा है, वहां सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर ऑनलाइन किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना खाते से आंशिक रकम निकासी

जरूरत पड़ने पर अकाउंट होल्डर सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) खाते से आंशिक रकम भी निकाल सकता है, इनमें उच्च शिक्षा और शादी जैसे काम शामिल हैं। इसमें खाते में पिछले वित्त वर्ष के अंत तक जमा रकम का 50 परसेंट तक रकम निकाली जा सकती है। सुकन्या समृद्धि योजना से यह निकासी तभी संभव है, जब अकाउंट होल्डर 18 साल की उम्र पार कर ले।

अकाउंट से रकम निकालने के लिए एक लिखित एप्लीकेशन और उस कॉलेज का एडमिशन ऑफर या फीस स्लिप की जरूरत होती है। हालांकि इन मामलों में फीस और दूसरे चार्ज के बराबर ही रकम निकाली जा सकती है उससे अधिक नहीं.

सुकन्या समृद्धि योजना एकाउंट कितने समय में मैच्योर होता है?

सुकन्या समृद्धि योजना ( sukanya samriddhi yojna ) में अकाउंट खाता खोलने के दिन से 21 साल पूरा होने पर या बेटी की शादी होने के बाद एकाउंट मैच्योर हो जायेगा।

हालांकि इसमें कुछ शर्तें भी हैं

  • अगर खाताधारक की शादी खाता खोलने के 21 साल पूरे होने से पहले हो जाती है तो खाते में रकम जमा नहीं कराई जा सकती।
  • अगर खाता 21 साल पूरा होने से पहले बंद कराया जा रहा है तो खाताधारक को यह एफिडेविट देना पड़ेगा कि खाता बंद करने के समय उसकी उम्र 18 साल से कम नहीं है।
  • मैच्योरिटी के समय पासबुक और withdrawl slip पेश करने पर खाताधारक को ब्याज सहित जमा रकम वापस हो जाएगी।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता सिर्फ भारत के निवासियों का ही खोला जा सकता है, जो यहीं रह रहा हो और मैच्योरिटी के वक्त भी भारत का निवासी हो।
  • अप्रवासी भारतीय सुकन्या समृद्धि योजना में खाता नहीं खोल सकते।
  • अगर खाता खोलने के बाद लड़की किसी और देश में चली जाती है और वहां की नागरिकता ले लेती है तो नागरिकता लेने के दिन से सुकन्या समृद्धि योजना खाते में जमा रकम पर ब्याज मिलना बंद हो जायेगा।

क्या सुकन्या समृद्धि योजना का खाता ऑनलाइन खुलवाया जा सकता है?

नहीं! सुकन्या समृद्धि योजना का खाता ऑनलाइन नही कराया जा सकता  इस खाते को खुलवाने के लिए आपको अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस यहां इसके लिए अधिकृत बैंक शाखा में जाना होगा हालांकि इस योजना के लिए अप्लाई करने के लिए फॉर्म आप ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं उसके लिंक और विधि नीचे दी गई है।

sukanya samriddhi yojna online account open

  • इस योजना मे अप्लाई करने के लिए आपको सुकन्या समृद्धि योजना की ऑफिशल वेबसाइट ( sukanya samriddhi yojna official website ) https://www.india.gov.in/sukanya-samriddhi-yojna पर जाना होगा।
  • फिर आपको होम पेज में एप्लीकेशन फॉर्म को सर्च करना हैं।
  • उसके बाद आपको एप्लीकेशन फॉर्म को डाउनलोड कर उसकी प्रिंट कॉपी निकाल लेनी हैं।
  • फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी डिटेल्स बिलकुल सही सही भरनी हैं और साथ ही जरूरी डाक्यूमेंट्स भी देने होंगे।
  • फॉर्म को आपको अपने नजदीकी डाकघर में या बैंक में जमा करवाना होगा।
  • फिर आपका इस योजना के तहत खाता खुल जायेगा।
  • फिर आपको होम पेज में एप्लीकेशन फॉर्म को सर्च करना हैं।
  • उसके बाद आपको एप्लीकेशन फॉर्म को डाउनलोड कर उसकी प्रिंट कॉपी निकाल लेनी हैं।
  • फॉर्म में आपको पूछी गयी सभी डिटेल्स बिलकुल सही सही भरनी हैं और साथ ही जरूरी डाक्यूमेंट्स भी देने होंगे।
  • फॉर्म को आपको अपने नजदीकी डाकघर में या बैंक में जमा करवाना होगा।

फिर आपका इस योजना के तहत खाता खुल जायेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में ऑनलाइन पैसे कैसे जमा कर सकते हैं? | How to deposit money online in Sukanya Samriddhi Yojna?

अगर आपने पोस्ट ऑफिस में sukanya samriddhi yojna का अकाउंट खुलवाया है तो आप घर बैठे हर महीने इसमें पैसा जम कर सकते हैं। इस अकाउंट में ऑनलाइन पैसा जमा करना बहुत आसान है। इसके लिए सबसे पहले अपने बैंक खाते से indian post payment bank (IPPB) खाते में पैसे जोड़ें। इसके बाद DOP Products पर जाएं, जहां आपको सुकन्या समृद्धि खाता दिखाई देगा और आप उसका सेलेक्ट कर लें। अपना सुकन्या समृद्धि अकाउंट नंबर और फिर DOP कस्टमर आईडी लिखें। इसके बाद सामान्य पेमेंट प्रोसेस की तरह किस्त की अवधि और अमाउंट सेलेक्ट करें। इसके बाद प्रोसेस पूरा कर दें, जिससे आपके खाते में पैसे चले जाएंगे।

बता दें कि IPPB पोस्ट ऑफिस का मोबाइल एप्लीकेशन भी है, जिसे आप गूगल प्ले स्टोर से आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। इसे डाउनलोड करने के बाद अपने सेविंग अकाउंट को इससे लिंक करना होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना का बैलेंस कैसे चेक करें?

Sukanya Samriddhi Yojna balance check

सुकन्या समृद्धि अकाउंट का बैलेंस चेक करने के दो तरीके हैं। ऑफलाइन तरीका और ऑनलाइन तरीका। अगर आपने पोस्ट ऑफिस में सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोला है तो आपको ऑफलाइन तरीके से बैलेंस चेक करना होगा। इसके लिए आप पोस्ट ऑफिस में जाकर अपनी पासबुक अपडेट करवानी होगी, जिससे आपको अपने सुकन्या समृद्धि खाते के बैलेंस के बारे में पता रहेगा। वहीं यदि आपने सुकन्या समृद्धि खाते को बैंक में खुलवाया है तो आप ऑनलाइन बैलेंस चेक करने के लिए नेट बैंकिंग के जरिए इसका पता कर सकते हैं। इसके लिए आपको बैंक की वेबसाइट पर नेटबैंकिंग में लॉग-इन करना है, जहां आप इस अकाउंट का बैलेंस देख सकते हैं।

स्रोत: यह जानकारी वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक की वेबसाइट से जुटाई गयी है। पाठकों को समझने के लिए इसे सरल भाषा में पेश किया गया है।

डिस्क्लेमर: पूरी जानकारी के लिए आप सुकन्या समृद्धि योजना की ऑफिशल वेबसाइट ( sukanya samriddhi yojana official website ) https://www.india.gov.in/sukanya-samriddhi-yojna

पर चेक कर सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना की जानकारी मौजूद नियमों के हिसाब से है, इसमें किसी बदलाव के लिए हमारी जिम्मेदारी नहीं है।

Also Read: EPFO: PF खाताधारक अपने ईपीएफ खाते में बैंक अकाउंट डिटेल्स घर बैठे ऑनलाइन कैसे अपडेट करें? जाने स्टेप बाय स्टेप प्रोसेस..

posted by: the nitin tech.com

Leave a Comment

Available for Amazon Prime