What is MNC Full Form? MNC का Full Form क्या होता है? जानें MNC के बारे में जरूरी बातें…

MNC Full Form

दोस्तों क्या आपने कभी MNC शब्द सुना है? या क्या आप जानते हैं की MNC kya hai? MNC की फुल फॉर्म (MNC Full Form) क्या होती है?

नमस्कार दोस्तों the nitin tech.com पर आप सभी का स्वागत है। क्या आप भी इंटरनेट पर MNC के बारे मे (MNC Full Form) ढूंढ रहे है? यदि हाँ तो आज मैं इस आर्टिकल के जरिए आपको MNC kya hota hai? MNC ka Full Form kya hota hai? के बारे में डिटेल में बताने जा रहा हूँ। इस पोस्ट को पढ़कर आप MNC kya hai? (MNC Full Form) के बारे में जान सकेंगे।

MNC kya hai? (MNC Full Form)

तो दोस्तों आपको बता दें कि MNC की Full Form Multinational Corporation ( मल्टीनेशनल कार्पोरेशन) होता है। जिसका हिन्दी में अर्थ होता है “मल्टीनेशनल संस्था” ।

MNC Full Form : Multinational Corporation / Multinational Company 

MNC Full Form in Hindi : मल्टीनेशनल कार्पोरेशन / मल्टीनेशनल कंपनी (हिंदी में अर्थ: मल्टीनेशनल संस्था)

MNC Full Form - Multinational Company

Multinational Company (MNC) क्या होती है?

 MNC एक ऐसी कंपनी है जो अपने मूल देश में स्थित है, लेकिन इसके एक या अधिक विदेशी देशों में कार्यालय या कारखाने भी हैं।

यह एक ऐसी कंपनी को संदर्भित करता है जो दो या दो से अधिक देशों में काम कर रही है और किसी एक देश से मैनेज की जाती है जहां इसका हेड ऑफिस है।

इसे MultiNational Enterprises (MNE), Stateless Corporation या Transnational Corporation भी कहा जाता है। एक Multinational Company (MNC) के कार्यालय और कारखाने विभिन्न देशों में हो सकते हैं, लेकिन इसका मुख्यालय आमतौर पर मूल देश में स्थित होता है।

एक संगठन जो दो या दो से अधिक देशों में कार्य करता है उसे MNC के रूप में जाना जाता है। ऐसे संगठनों का मुख्यालय एक देश में होता है, हालाँकि, उनके कई कार्यालय या कारखाने दूसरे देशों में स्थापित होते हैं।

व्यापार का विस्तार करने, नए बाजारों तक पहुंचने, कम लागत पर उत्पादन सुविधाएं स्थापित करने, अपने ग्राहक आधार को बढ़ाने आदि के लिए अन्य देशों में एक मल्टीनेशनल कार्पोरेशन की स्थापना की जाती है। मल्टीनेशनल कार्पोरेशन (MNC) को मल्टीनेशनल एंटरप्राइजेज (MNE) भी कहा जाता है।

Multinational Companies का इतिहास

मल्टीनेशनल कंपनियाँ वैश्वीकरण की देन हैं। इतिहास में सबसे पहली मल्टीनेशनल कंपनी सन् 1600 में भारत में कारोबार करने आई थी। जिसे ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के नाम अपने गृह देश के अलावा किसी अन्य देश में काम करने वाली पहली पंजीकृत मल्टीनेशनल कंपनी है।

ईस्ट इंडिया कंपनी को 17वीं शताब्दी में भारत आने वाली पहली मल्टीनेशनल कंपनियों में से एक माना जा सकता है।

Apple Inc., Microsoft, Coca-Cola, Samsung, Pepsico सहित Infosys और Nike Inc., आदि इस समय दुनिया भर में प्रसिद्ध मल्टीनेशनल कंपनियां हैं।

Features of a MNC Company

एक मल्टीनेशनल कंपनी की बहुत सी विशेषताएं होती है :

High Turnover & Many Assets : 

मल्टीनेशनल कंपनियां वैश्विक स्तर पर संचालित होती हैं। जिसका मतलब है कि उनके पास लगभग सभी देशों में बड़ी संपत्ति है, जिसमें वे काम करते हैं। उनके टर्नओवर भी स्पष्ट रूप से बड़े हो सकते हैं। उदाहरण के लिए, Apple के पास 1 ट्रिलियन डॉलर की मार्केट कैपिटल है। यह सऊदी अरब की पूरी अर्थव्यवस्था से बड़ा है।

Control : 

मल्टीनेशनल कंपनियों पर नियंत्रण की एकता है। इसलिए जबकि उनकी कई देशों में कई शाखाएँ हैं, मुख्य नियंत्रण अपने मूल देश में हेड ऑफिस के पास रहेगा। मेजबान देश में व्यवसाय संचालन का अपना प्रबंधन और कार्यालय हैं, लेकिन अंतिम फिर अभी भी हेड ऑफिस ही करता है।

Technological Advantages : 

जैसा कि हमने पहले बताया था, एक मल्टीनेशनल कंपनी के पास भारी मात्रा में धन और इन्वेस्टमेंट होता है। यह उन्हें अपने उत्पादों और उनकी कंपनी को बढ़ावा देने के लिए उपलब्ध सर्वोत्तम तकनीक का उपयोग करने की अनुमति देता है। ज्यादातर कंपनियां नए तकनीकी चमत्कारों का आविष्कार और खोज करने के लिए अपने अनुसंधान और विकास विभाग में बहुत पैसा लगाती हैं।

Professionals Management : 

एक मल्टीनेशनल कंपनी को बहुत प्रोफेशनल और सक्षम व्यक्तियों द्वारा चलाया जाता है। उनके पास अपने व्यापार संचालन, प्रौद्योगिकी, वित्त, विस्तार आदि की देखभाल करने के लिए उपयुक्त प्रबंधक होते हैं और वे अपने संसाधनों और अपनी प्रतिष्ठा के कारण अपने निगमों के लिए शीर्ष प्रतिभा को आकर्षित करने में सक्षम होते हैं।

Aggressive Marketing : 

MNCs कंपनी मार्केटिंग, विज्ञापन और प्रचार गतिविधियों पर अपना बहुत पैसा खर्च करती हैं। वे इंटरनेशनल ग्राहकों को टारगेट करते हैं, इसलिए इफेक्टिव Marketing जरूरी हो जाता है। Aggressive Marketing उन्हें बाजार पर कब्जा करने और वर्ल्ड लेवल पर अपने प्रोडक्ट्स को बेचने की अनुमति देता है।

मल्टीनेशनल कंपनियों के प्रकार / Types of MNC

मुख्य रूप से चार प्रकार के मल्टीनेशनल कंपनी होती हैं :

MultiNational Decentralized Corporation: 

इस प्रकार की मल्टीनेशनल कंपनियों के दो या दो से अधिक देशों में प्रतिष्ठान हैं, जबकि मैनेजमेंट या ऑपरेट से संबंधित निर्णय व्यक्तिगत इकाइयों द्वारा लिए जाते हैं। ये मल्टीनेशनल कंपनियां अपने गृह देश में एक प्रमुख उपस्थिति बनाए रखती हैं।

Global Centralized Corporation :

ऐसी मल्टीनेशनल कंपनियां सस्ते दरों पर लागत लाभ और संसाधनों के अनुकूलन पर ध्यान केंद्रित करती हैं। इस प्रकार की मल्टीनेशनल कंपनियाँ अपने कार्यों को विकासशील देशों को आउटसोर्स करती हैं।

International Company:

इस प्रकार की मल्टीनेशनल कंपनी अपने मूल कंपनी के अनुसंधान एवं विकास (रिसर्च एंड डेवलपमेंट) पर केंद्रित है।

International Enterprise:

यह पिछली सभी तीन श्रेणियोंl का एक संयोजन है। इस समय में इस टाइप की MNC कंपनिया ही पॉपुलर है।

मल्टीनेशनल कंपनी के फायदे और नुकसान / MNC Pros. & Cons.

मल्टीनेशनल निगमों के कई फायदे और नुकसान हैं जो या तो उन्हें अपने व्यवसाय का विस्तार करने में मदद करते हैं या अपना बाजार हिस्सा खो देते हैं।

लाभ / Pros.

  • मल्टीनेशनल कंपनियां कई देशों में अपनी उपस्थिति से वैश्विक बाजार की मांग को पूरा कर सकती है।
  • कई देशों में मल्टीनेशनल कंपनियों की स्थापना से शिपिंग कॉस्ट कम हो जाती है।
  • मल्टीनेशनल कंपनियां कम लागत पर माल का उत्पादन या सेवाएं प्रदान करके खरीदार की क्रय शक्ति बढ़ाती हैं।
  • मल्टीनेशनल कंपनियां विभिन्न स्तरों पर रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देती हैं।
  • मल्टीनेशनल कंपनियां कई करों का भुगतान करके सरकारी राजस्व में योगदान करती हैं।
  • मल्टीनेशनल कंपनियाँ उन देशों के आर्थिक और तकनीकी विकास के पक्ष में हैं जहाँ वे स्थापित हैं।
  • एक मल्टीनेशनल कंपनी के कुछ उल्लेखनीय लाभ यह भी हैं कि यह जिस भी देश में अपनी ब्रांच खोलती हैं वहां जबरदस्त संसाधन खर्च करता है और लेटेस्ट और आधुनिक तकनीक को अप्लाई करती हैं।
  • यह इंटरनेशनल स्टेंडर्ड्स का पालन करते हुए बड़े पैमाने पर माल का निर्माण करती है और औद्योगिक उत्पादक वस्तुओं और सेवाओं पर भी ध्यान केंद्रित करता है, जो मैन्युफैक्चरिंग की cost को प्रभावी ढंग से कम करता है। इससे मल्टीनेशनल कंपनियों को मेजबान देश के नागरिकों को उचित दरों पर प्रोडक्ट या सर्विसेज प्रदान करने में सक्षम बनाता है।
  • यह इनकम टैक्स के साथ-साथ कई अन्य करों का भुगतान करके सरकार की इनकम को बड़ाते है, जैसे कि यह इनकम टैक्स के साथ-साथ एक्सपोर्ट चार्जेस या जीएसटी जैसे कई अन्य करों का भुगतान करके सरकार की इनकम को बड़ाते है।

हानि / Cons :

  • मल्टीनेशनल कंपनियां एकाधिकार विकसित कर सकती हैं। 
  • मल्टीनेशनल कंपनियों द्वारा बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए प्राकृतिक संसाधनों का उपयोग पर्यावरण पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है।
  • मल्टीनेशनल कंपनियां छोटे व्यवसायों के कामकाज को प्रभावित कर सकती हैं।

INDIA में MNC( Multinational company) कौनसी हैं ?

  • Apple
  • Microsoft
  • Google
  • Nestle
  • Infosys
  • Unilever
  • Amazon
  • IBM (International Business Machines corporation)
  • The Coca Cola
  • Samsung
  • Procter & Gamble
  • Sony corporation
  • TATA Group
  • Citi group
  • Nike
  • Johnson & Johnson
  • Adidas
  • LTI

FAQ About MNC

Q. What is MNC? MNC क्या होता है?

Ans :  MNC की Full Form Multinational Corporation ( मल्टीनेशनल कार्पोरेशन) होता है। जिसका हिन्दी में अर्थ होता है “मल्टीनेशनल संस्था” ।
MNC Full Form : Multinational Corporation / Multinational Company 
MNC Full Form in Hindi : मल्टीनेशनल कार्पोरेशन / मल्टीनेशनल कंपनी (हिंदी में अर्थ: मल्टीनेशनल संस्था)

Q. Multinational Company (MNC) क्या होती है?

Ans : MNC एक ऐसी कंपनी है जो अपने मूल देश में स्थित है, लेकिन इसके एक या अधिक विदेशी देशों में कार्यालय या कारखाने भी हैं।
यह एक ऐसी कंपनी को संदर्भित करता है जो दो या दो से अधिक देशों में काम कर रही है और किसी एक देश से मैनेज की जाती है जहां इसका हेड ऑफिस है।

Q. Why is it called MNC? इसे MNC क्यों कहते हैं?

Ans : MNC शब्द का फुल फॉर्म होता है Multinational Company यह 3 शब्दों से मिलकर बना है Multi + National + Company. यहां Multi यानी “बहुत सारे” National यानि “देश”। इस प्रकार Multinational Company (MNC) वह कंपनी जिसका कारोबार बहुत सारे देशों में फैला हुआ है।
 इसीलिए Multinational Company को MNC इसीलिए कहते हैं क्योंकि इस प्रकार की कंपनियों के कारोबार किसी एक देश में ना होकर बहुत सारे देशों में फैला हुआ होता है।

Q. What is an MNC salary? भारत में मल्टीनेशनल कंपनी में औसत वेतन कितना मिलता है?

Ans : भारत में मल्टीनेशनल कंपनी में औसत वेतन लगभग ₹450,000 प्रति वर्ष है। जहां शुरुआती स्थिति तनख्वाह ₹ 300,000 प्रति वर्ष से शुरू होती है, जबकि अधिकांश अनुभवी कर्मचारी प्रति वर्ष ₹ 1,194,200 तक कमाते हैं।

Q. How many types of MNCs are there? मल्टीनेशनल कंपनियां कितने प्रकार की होती हैं?

Ans : मुख्य रूप से चार प्रकार के मल्टीनेशनल कंपनी होती हैं :
MultiNational Decentralized Corporation
Global Centralized Corporation
International Company
International Enterprise

Q. What is MNC full form in Medical?  मेडिकल के फील्ड में MNC क्या है?

Ans : मेडिकल के फील्ड में MNC का मतलब होता है Medical Necessity Criteria.
MNC Full Form in Medical : Medical Necessity Criteria
मेडिकल के फील्ड में “Medical Necessity Criteria” को किसी बीमारी, चोट, स्थिति, या इसके लक्षणों के निदान या उपचार के लिए जरूरी स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं या आपूर्ति के रूप में, और जो दवा के स्वीकृत मानकों को पूरा करते हैं के रूप में परिभाषित करते है । प्रत्येक राज्य के पास अपने कानूनों या विनियमों के अंतर्गत Medicaid सेवाओं के लिए “Medical Necessity Criteria” की परिभाषा हो सकती है।

Source : Google

Founder & Author : the nitin tech.com

 मिस्टर नितिन कुमार the nitin tech.com के Founder और Author है। इन्हें हमेशा से टेक्नोलॉजी से सम्बंधित जानकारी लेना और उसे लोगो के साथ शेयर करना पसंद है। अगर आपको इनके द्वारा शेयर की गई जानकारी अच्छी लगती है तो आप इन्हे Social Media पर फॉलो कर सकते है। Thank You!

इसे शेयर करें

Leave a Comment