What is JPEG Full Form? JPEG का Full Form क्या होता है? जानें JPEG के बारे में जरूरी बातें…

JPEG Full Form

Page Contents

दोस्तों क्या आपने कभी JPEG शब्द सुना है? या क्या आप जानते हैं की JPEG kya hai? JPEG की फुल फॉर्म (JPEG Full Form) क्या होती है?

नमस्कार दोस्तों the nitin tech.com पर आप सभी का स्वागत है। क्या आप भी इंटरनेट पर JPEG के बारे मे (JPEG Full Form) ढूंढ रहे है? यदि हाँ तो आज मैं इस आर्टिकल के जरिए आपको JPEG kya hota hai? JPEG ka Full Form kya hota hai? के बारे में डिटेल में बताने जा रहा हूँ। इस पोस्ट को पढ़कर आप JPEG kya hai? (JPEG Full Form) के बारे में जान सकेंगे।

JPEG क्या है?

JPEG (हिंदी में जेपीईजी, उच्चारण : जेपेग) डिजिटल इमेजेस/फोटो के लिए आमतौर पर इस्तेमाल किया जानेवाला एक फ़ाइल फॉर्मेट है। इस फॉर्मेट का इस्तेमाल विशेष रूप से डिजिटल images के लिए किया जाता है, जिनका एक्सटेंशन अक्सर .jpg (या फिर .jpeg, .jpe,.jif, .jfif, .jfi) होता है।

दोस्तों हम जब भी अपने मोबाइल/ कंप्यूटर पर कोई फोटो खींचते हैं या इमेज डाउनलोड करते हैं या फिर किसी पहले की सेव की हुई इमेज /फोटो को देखते है तो वो इमेज एक फाइल के फॉर्मेट में होती है और ज्यादातर इमेज की फाइल का फॉर्मेट अक्सर JPEG (JPG) होता है।

JPEG का फुल फॉर्म (JPEG Full Form) क्या होता है?

तो दोस्तों आपको बता दें कि JPEG की Full Form होता है Joint Photographic Experts Group (ज्वाइंट फोटोग्राफिक एक्सपर्ट ग्रुप) होता है।

  • J – Joint
  • P – Photographic
  • E – Experts
  • G – Group

JPEG Full Form : Joint Photographic Experts Group

JPEG Full Form in Hindi : ज्वाइंट फोटोग्राफिक एक्सपर्ट ग्रुप (हिंदी में अर्थ “फ़ोटोग्राफ़ी संबंधी विशेषज्ञों का संयुक्त समूह”)

यह शब्द “JPEG” इस इमेज फॉर्मेट को बनाने वाले “Joint Photographic Experts Group” का संक्षिप्त नाम है।

JPEG Full Form - Joint Photographic Experts Group

.JPEG

Format TypeImage Format
Used ForDigital Images
Developed ByJoint Photographic Experts Group

डिजिटल इमेजेस की इस फॉर्मेट में एक type की compression को refer किया जाता है जो की इमेज की फाइल साइज को ‘RAW’ files की तुलना में बहुत छोटी बना देते हैं जिसे की high-end digital cameras से खिंचा जाता है।

इस टाइप के इमेज फॉर्मेट में image को compress किया जाता है। JPEG डिजिटल इमेजेस एक most commonly used format होता है। ये specifically उन images के लिए अच्छा होता है जिसमें blends या gradients colour का इस्तेमाल होता है। लेकिन ये sharp edges इमेजेस के साथ सही नहीं होता है क्यूंकि डिजिटल इमेजेस की इस फॉर्मेट में थोड़ी बहुत blurring भी हो सकती है।

ऐसा शायद इसलिए क्यूंकि डिजिटल इमेजेस के लिए JPEG एक lossy compression होता है। इसका मतलब है की जब आप एक image को JPEG format में save करते हैं, तब compression के कारण image में थोड़ा बहुत क्वालिटी में loss होती है। इसलिए यदि image को बार बार edits या re-save करना पड़े तो इसके लिए JPEG एक अच्छी फार्मेट नहीं होती है। क्यूंकि JPEG फॉर्मेट में हर एक बार re-save करने करने compression के कारण image की quality में थोड़ा बहुत loss जरुर दिखाई पड़ता है।

इसलिए अगर आप image में कम ही edit करते हैं तब JPEG Format आपके लिए बहुत बढ़िया होती है।

JPEG format में compression के कारण Image File की size बहुत ही छोटी हो जाती है। साथ ही डिजिटल इमेजेस की इस फॉर्मेट की पॉपुलैरिटी के कारण प्राय इसे लगभग सभी कंप्यूटर प्रोग्राम और एप्लीकेशन द्वारा accept किया जाता है।

जहाँ Image File Formats में अभी बहुत से टाइप के इमेज फॉर्मेट आ चुके हैं, जिन्हें के images के साइज और इस्तेमाल के हिसाब से चुना जाता है। जैसे की अगर हमें फोटो की Detailed Picture Quality चाहिए तब हम Raw formats का ही इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन ये बहुत ही बड़ी size की image होती है। ऐसे में JPEG के इस्तेमाल से Images को compress करके बहुत ही कम जगह में store किया जा सकता है।

इन्हें भी देखें :-  BOCW Full Form in Hindi | BOCW का मतलब क्या है? जानें BOCW Act के बारे में जरुरी बातें

ऐसे बहुत से जगह होते हैं जहाँ की हमें images तो इस्तेमाल करनी है। लेकिन उसकी बड़ी साइज होने से प्रॉब्लम होती है जैसे उसे ईमेल के साथ लिंक करके भेजने के लिए या फिर सोशल मीडिया जैसे व्हाट्सएप फेसबुक आदि पर शेयर करने के लिए यदि इमेज की फाइल साइज यदि बड़ी होगी तो उसे शेयर करने में प्रॉब्लम होती है।

ऐसी जगह पर JPEG इमेज फॉर्मेट हमारे बहुत काम आती है। क्योंकि इमेज की इस फॉर्मेट में इमेज की क्वालिटी भी सही सही रहती है (बहुत ज्यादा अच्छी नहीं, लेकिन सही रहती है) और इमेज की फाइल साइज बहुत छोटी हो जाती है जिससे कही भी शेयर करना या डिजिटल फॉर्मेट में ही स्टोर करके रखना आसान हो जाता है। इसीलिए ज्यादातर डिजिटल इमेजेस में JPEG फाइल फॉर्मेट का ही इस्तेमाल होता है।

यहां आपको यह बता दें कि इमेज की RAW फाइल फॉर्मेट केवल तभी useful होती हैं जब हमें फोटो को एक large size में print करना होता है, क्यूंकि इसमें पिक्चर की पूरी detail होती है जो की lost हो जाती है जब हम उस picture को computer screen में देखते हैं या छोटे size के image में print करते हैं।

कौन से Programmes से JPEG files को Open किया जा सकता है?

लगभग सभी image programmes द्वारा इमेज की JPEG फाइल फॉर्मेट को आसानी से open किया जा सकता है। इसमें से जो सबसे commonly used होता है वो है Microsoft Photos Application, ये Microsoft windows ऑपरेटिंग सिस्टम वाले कंप्यूटर में पहले से ही इंस्टॉल default programme होता है।

आप चाहें तो JPEG Images को खोलने के लिए अन्य Graphics Programmes जैसे की Adobe Photoshop का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसी तरह लगभग सभी Web Browsers भी JPEG इमेज फॉर्मेट को सपोर्ट करते हैं।

JPEG इमेज फॉर्मेट को कब डेवलप किया गया था?

इस Format को बनाने वाले Joint Photographic Experts Group ने सन् 1986 में इमेज की इस फॉर्मेट को डेवलप किया था। और सन् 1992 में उन्होंने ने इस फाइल फॉर्मेट को submit किया और उसे approved किया गया, तो हम यह कह सकते हैं की डिजिटल इमेजेस की ये सबसे पॉपुलर फॉर्मेट Internet के शुरूआती दौर में ही डेवलप हुई और पॉपुलर हुई।

आप उचित इमेज फॉर्मेट को कैसे salect करेंगे?

वैसे देखा जाये तो आज के समय में Images की बहुत सी type की File Format होती है जैसे की PNG, JPEG, GIF इत्यादि। ये सभी इमेज फॉर्मेट बहुत ही बेहतर image quality प्रदान करती है। लेकिन अब सवाल आता है की कैसे पता करें की कौन सी File Form बेहतर है? या फिर किस टाइप की इमेज फॉर्मेट को कहां इस्तेमाल करना सही रहेगा? इसके लिए हमें विभिन्न इमेज फॉर्मेट के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

GIF Image Format

GIF Image Format

GIF File Format एक lossless compression file format होती है यानी की हर बार दुबारा save करने पर भी इस फॉर्मेट की इमेज की क्वालिटी में loss नहीं होता। लेकिन इस टाइप की इमेजेस कलर्स सपोर्ट के मामले में सिर्फ 256 colors तक limited होती हैं।

GIF इमेज फॉर्मेट line drawings, text, और iconic graphics को छोटे file size में store करने के लिए बहुत ही बढ़िया choice होती है।

PNG Image Format

PNG Image Format

यह भी एक Lossless Compression File Format होता है, जो की इसे इस्तेमाल करने के लिए एक बहुत ही बढ़िया ऑप्शन बनाता है। GIF के तरह ही PNG भी Line Drawings, Text, और Iconic Graphics को छोटे File Size में Store करने के लिए एक बहुत ही बढ़िया choice होती है।

JPG Image Format

JPG Image Format

यह एक Lossy Compressed File Format होता है। इसका मतलब है की जब आप एक image को JPEG format में save करते हैं, तब compression के कारण image में थोड़ा बहुत क्वालिटी में loss होती है। इसलिए यदि image को बार बार edits या re-save करना पड़े तो इसके लिए JPEG एक अच्छी फार्मेट नहीं होती है। क्यूंकि JPEG फॉर्मेट में हर एक बार re-save करने करने compression के कारण image की quality में थोड़ा बहुत loss जरुर दिखाई पड़ता है।

ये इमेज फॉर्मेट, इमेजेस को छोटे size में store करने के लिए BMP format की तुलना में एक बेहतर option होता है। JPG उन लोगों के लिए एक बेहतर choice हैं जो की picture को कम size में compress करके रखना पसंद करते हैं।

एक ओर JPEGs जहाँ photographs और realistic images के लिए बेहतर ऑप्शन हैं वहीँ Line drawings, text, और iconic graphics, text-heavy images, और images जिनमें कम colours होते हैं, उनको छोटे file size में store करने के लिए, GIF या PNG इमेज फॉर्मेट ऑप्शन ज्यादा बेहतर choices हैं क्यूंकि ये lossless होते हैं।

JPEG इमेज फॉर्मेट का इस्तेमाल कहाँ पर सबसे ज्यादा किया जाता है?

JPEG इमेज फॉर्मेट को अक्सर Full-Color images में इस्तेमाल किया जाता है जिसमें की realistic elements होते हैं जैसे की brightness और colour transitions, साथ में इस format का इस्तेमाल Graphical Digital Content (photos, scanned copies of digitized pictures) के लिए भी किया जाता है।

इन्हें भी देखें :-  What is NBA Full Form? NBA का Full Form क्या होता है? जानें NBA के बारे में जरूरी बातें…

Internet पर Compressed Images की transmission के लिए ये बहुत ही convenient होता है, क्यूंकि अन्य टाइप की इमेज फॉर्मेट की तुलना में ये बहुत ही कम space लेता है। वहीं कंप्यूटर या मोबाइल पर इमेजेस स्टोर करके रखने के लिए या फिर Internet के माध्यम से इमेजेस शेयर करने के लिए, या किसी वेबसाइट में पिक्चर अपलोड करने के लिए JPEG एक ideal ऑप्शन होता है।

JPEG Format का इस्तेमाल कहां नहीं किया जाना चाहिए?

ज्यादातर डिजिटल कैमरे आपके photos को JPEGs Format में automatically ही save करते हैं, ऐसे ही बहुत से graphics programmes भी आपके save किए जाने वाले इमेज को JPEGs Format में ही save करते हैं। लेकिन, अगर आप line drawing करते हैं या फिर दुसरे graphic जिसमें text या फिर iconic graphics का इस्तेमाल होता है, तब आपको इन्हें TIFF, GIF, PNG या RAW जैसे किसी अन्य Format में save करनी चाहिए।

ऐसा इसलिए क्यूंकि ऐसे graphics जिसमें ज्यादातर pixels के बीच sharp contrast होते हैं इन्हें अगर JPEG Format में save किया जाये तब image में धुंधलापन दिखाई पड़ सकता है। इसीलिए इस कमी को दूर करने के लिए आप इमेज को किसी ‘lossless’ टाइप के इमेज फार्मेट में save कर सकते हैं जिनके बारे में हमने आपको ऊपर बताया है।

आपके कंप्यूटर या मोबाइल में स्टोर की हुई इमेज JPEG Format की है या नहीं इसे कैसे Identify करें?

आपके कंप्यूटर या मोबाइल में स्टोर की हुई इमेज JPEG Format की है या नहीं इसे पहचानने के लिए उस इमेज का name चैक करें। यदि इमेज JPEG Format की होगी तो उस इमेज के नाम के आगे .jpg या .jpeg extension लिखा होगा। जैसे अगर आपके पास कोई photo है और उसका नाम है ABC तब यदि वो इमेज JPEG फॉर्मेट की है तो आपको उस इमेज का filename आपको ABC.jpeg या फिर ABC.jpg दिखाई पड़ेगी। हालांकि JPEG इमेज फॉर्मेट के दुसरे भी filename extensions होते हैं जैसे की .jpe या .jfif, लेकिन ज्यादातर इनका इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

JPEG इमेज फॉर्मेट के क्या फायदे हैं?

तो दोस्तों आइए आपको JPEG इमेज फॉर्मेट के क्या फायदे हैं उसके बारे में जानकारी दे देते हैं।

हाई-रिज़ॉल्यूशन इमेजेस

हाई-रिज़ॉल्यूशन इमेजेस JPEG इमेज फॉर्मेट के उल्लेखनीय लाभों में से एक है। यह इमेज फॉर्मेट 16 मिलियन कलर्स के साथ 24-बिट कलर्स का समर्थन करता है। प्रोफेशनल डिवाइसेज में हाई लेवल की एडिटिंग एप्लाई करने के बाद भी इस फार्मेट में इमेजेस का रिज़ॉल्यूशन अच्छी क्वालिटी का रहता है।

साइज में छोटी

यदि JPEG इमेज फॉर्मेट की BMP, PNG, या RAW फ़ाइलों से तुलना करें और आप इसके फाइल साइज में अंतर साफ देखेंगे। JPEG इमेज फॉर्मेट में इमेजेस को छोटे फ़ाइल साइज में कंप्रेशन करने का लाभ मिलता है। अपेक्षाकृत समान क्वालिटी और रिज़ॉल्यूशन के साथ, JPEG फ़ाइल का साइज अन्य इमेज फॉर्मेट की तुलना में छोटा होता है।

कस्टमाइज इमेज compression

यदि आपने कभी ऑफिशल यूज के लिए फोटोग्राफ और सिग्नेचर अपलोड करने का प्रयास किया है, तो आप शायद JPEG फ़ाइलों को यूज करने के इस लाभ को जानते हैं । आप अपनी जरूरत के हिसाब से JPEG इमेज फॉर्मेट में इमेज की साइज और क्वालिटी को एडजस्ट कर सकते हैं।

compatibility JPEG image के प्रमुख लाभों में से एक है

कहने की जरूरत नहीं है, JPEG एक सार्वभौमिक रूप से स्वीकृत फ़ाइल फॉर्मेट है जिसे आप अपने स्मार्टफोन, कंप्यूटर, कैमरा या यहां तक ​​कि एडिटिंग सॉफ्टवेयर पर edit या यूज कर सकते हैं।

एक्सेस करने और ट्रांसफर करने में आसान

JPEG इमेज का छोटा आकार आपको इन्फोग्राफिक्स के माध्यम से बहुत आसानी से काम करने की एक्सेस देता है। आप क्लाउड स्टोरेज पर JPEG इमेजेस को शेयर कर सकते हैं, उन्हें ईमेल के साथ अटैच कर सकते हैं, या फिर उन्हें तुरंत अपने फेसबुक या ट्विटर पेज पर भी शेयर कर सकते हैं।

JPEG इमेज फॉर्मेट के क्या नुकसान हैं?

अब जानते हैं JPEG इमेज फॉर्मेट के नुकसान के बारे में की क्यों कई पेशेवर फ़ोटोग्राफ़र JPEG के बजाय RAW इमेज फॉर्मेट का ऑप्शन चुनते हैं। इमेज की क्वालिटी से लेकर बैलेंस तक, विचार करने के लिए कई कारक हैं। नीचे दिए गए तथ्य JPEG इमेज फॉर्मेट की कमियों को समझने में आपकी सहायता करेंगे ।

JPEG इमेज फॉर्मेट में Compression इमेज की क्वालिटी को कम करता है

JPEG इमेज फॉर्मेट में जब भी आप फ़ाइल को एक निश्चित सीमा तक compress करते हैं तो आउटपुट को आकार में छोटा करने के लिए कुछ कलर्स का डेटा मिटा देता है। इमेज की साइज को कम करने का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि आपको इमेज की खराब क्वालिटी के साथ समझौता करना पड़ता है जिसे save करने के बाद दुबारा पहले की तरह नहीं किया जा सकता है।

इन्हें भी देखें :-  What is SBTET Full Form? SBTET का Full Form क्या होता है? जानें SBTET के बारे में जरुरी बातें

प्रोसेसिंग कंट्रोल

JPEG इमेज फॉर्मेट में कैमरे द्वारा फोटो शूट करते समय फोटोग्राफर इस समस्या से रूबरू हो सकते हैं की इस फार्मेट में इमेज SAVE करने पर उन्हें फोटो में कलर्स वैरिएशन और कैमरे का प्रोसेसर लिमिटेड ही वर्क करता है। इसके विपरीत, जब आप इमेज को RAW फॉर्मेट में शूट करते हैं तो ऐसी कोई सीमा नहीं होती है।

पुनः SAVE करने पर हर बार क्वालिटी loss

अगर आप केवल एक JPEG इमेज फॉर्मेट की फ़ाइल Compress करते हैं, तो हर बार जब आप इसे save करते हैं तो इसकी क्वालिटी खराब हो जाती है। माइक्रोसॉफ्ट इमेज मैनेजर या पेंट में किसी jpeg फॉर्मेट की इमेज खोलें और आप JPEG इमेज में फैले हुए पिक्सेल को देख सकते हैं।

हर तरह के इमेज के लिए उपयुक्त नहीं

JPEG इमेज फॉर्मेट आम तौर पर पोर्ट्रेट और नेचुरल इमेजेस जैसे डिजिटल इमेजेस के लिए आदर्श होता है। हालांकि, अगर इमेजेस में टेक्स्ट या शार्प लाइन्स और कॉर्नर्स शामिल हैं, तो उसके लिए यह इमेज फार्मेट परफेक्ट नहीं होता है।

JPEG इमेज फॉर्मेट layer इमेज को सपोर्ट नहीं करती

दुर्भाग्य से, JPEG इमेज फॉर्मेट layer इमेज को सपोर्ट नहीं करती हैं। इसलिए ज्यादातर ग्राफिक डिजाइनर इस JPEG इमेज फॉर्मेट पर काम नहीं करना चाहते। ग्राफिक इमेजेस को एडस्ट और एडिट करने के लिए आपको layerd इमेजेस पर काम करने की जरूरत पढ़ती है, जो JPEG इमेज फॉर्मेट के साथ संभव नहीं है।

JPEG और JPG में क्या अंतर हैं?

JPEG और JPG दोनों एक ही चीज़ होते हैं। ये दोनो ही digital images को store करने के लिए एक प्रकार के file format होते हैं। JPG को भी originally JPEG ही कहा जाता है जिसका full form है Joint Photographic Expert Group. JPEG image के filename को .jpg या .jpeg कहते हैं. वैसे इन दोनों में कोई ख़ास difference नहीं है लेकिन बस इनमें इस्तेमाल हुआ characters में ही अंतर है।

FAQ About JPEG Full Form

Q. What is JPEG Full Form? JPEG की फुल फार्म क्या होती है?

Ans: JPEG की Full Form होता है Joint Photographic Experts Group (ज्वाइंट फोटोग्राफिक एक्सपर्ट ग्रुप)।
JPEG Full Form : Joint Photographic Experts Group
JPEG Full Form in Hindi : ज्वाइंट फोटोग्राफिक एक्सपर्ट ग्रुप (हिंदी में अर्थ “फ़ोटोग्राफ़ी संबंधी विशेषज्ञों का संयुक्त समूह”)
JPEG (हिंदी में जेपीईजी, उच्चारण : जेपेग) डिजिटल इमेजेस/फोटो के लिए आमतौर पर इस्तेमाल किया जानेवाला एक फ़ाइल फॉर्मेट है। इस फॉर्मेट का इस्तेमाल विशेष रूप से डिजिटल images के लिए किया जाता है, जिनका एक्सटेंशन अक्सर .jpg (या फिर .jpeg, .jpe,.jif, .jfif, .jfi) होता है।
दोस्तों हम जब भी अपने मोबाइल/ कंप्यूटर पर कोई फोटो खींचते हैं या इमेज डाउनलोड करते हैं या फिर किसी पहले की सेव की हुई इमेज /फोटो को देखते है तो वो इमेज एक फाइल के फॉर्मेट में होती है और ज्यादातर इमेज की फाइल का फॉर्मेट अक्सर JPEG (JPG) होता है।
यह शब्द “JPEG” इस इमेज फॉर्मेट को बनाने वाले “Joint Photographic Experts Group” का संक्षिप्त नाम है।

Q. JPEG और JPG में क्या अंतर हैं?

Ans : JPEG और JPG दोनो की इमेज फाइल की फॉर्मेट है और इन दोनो में कोई अंतर नही है दोनो एक ही टाइप के इमेज को सपोर्ट करते हैं। इनमे अंतर सिर्फ इनके वर्ड में है और इनमे कोई अंतर नही है।

Q. क्या JPEG का मतलब फोटो होता है?

Ans : हां JPEG एक इमेज फाइल का ही एक्सटेंशन होता है और यदि कोई आपको बोलता है की JPEG फाइल तो इसका मतलब होता है की वो फोटो के डिजिटल प्रारूप की बात कर रहा है।

Q. JPEG इमेज कितने रंगो को सपोर्ट करती है?

Ans: एक JPEG फॉर्मेट की इमेज 24 बिट प्रति पिक्सेल स्टोर करती हैं, इसलिए वे 16 मिलियन से अधिक रंग प्रदर्शित करने में सक्षम हैं। इसके अलावा एक ग्रेस्केल JPEG फॉर्मेट भी होता है जो प्रति पिक्सेल 8 बिट सपोर्ट करता है। JPEG इमेज फार्मेट ट्रांसपेरेंट या एनिमेशन इमेज को सपोर्ट नहीं करते।

Q. क्या JPEG इमेज फॉर्मेट प्रिंटिंग के लिए अच्छा होता है?

Ans : नहीं JPEG इमेज फॉर्मेट डिजिटली इमेज को स्टोर या ट्रांसफर करने के लिए तो सही रहता है लेकिन प्रिंटिंग के लिए JPEG इमेज अच्छा ऑप्शन नहीं होता है।

तो दोस्तों ऊपर आर्टिकल में हमने आपको JPEG की फुल फॉर्म (JPEG Full Form) : Joint Photographic Expert Group के बारे में डिटेल में जानकारी दी है। उम्मीद करते हैं की इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको JPEG क्या होता है? JPEG की फुल फॉर्म क्या होती है? JPEG को कहां यूज करना चाहिए? आदि के बारे में अच्छे से समझ आ गया होगा।

दोस्तो यदि आपको इस फील्ड से जुड़ा कोई सवाल है तो आप कमेन्ट कर के जरूर पूछे और इस पोस्ट को अपने दोस्तों मे भी जरूर शेयर करें क्योंकि ज्ञान बाटने से बढ़ता है। आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद!

 मिस्टर नितिन कुमार the nitin tech.com के Founder और Author है। इन्हें हमेशा से टेक्नोलॉजी से सम्बंधित जानकारी लेना और उसे लोगो के साथ शेयर करना पसंद है। अगर आपको इनके द्वारा शेयर की गई जानकारी अच्छी लगती है तो आप इन्हे Social Media पर फॉलो कर सकते है। Thank You!

इसे शेयर करें

Leave a Comment