What is ICSE Full Form? ICSE का Full Form क्या होता है? जानें ICSE Board के बारे में जरूरी बातें…

ICSE Full Form

दोस्तों क्या आपने कभी ICSE बोर्ड का नाम सुना है? या क्या आप जानते हैं की ICSE Board kya hota hai? या फिर ICSE की फुल फॉर्म (ICSE Full Form) क्या होती है?

नमस्कार दोस्तों the nitin tech.com पर आप सभी का स्वागत है। क्या आप भी इंटरनेट पर ICSE Board के बारे मे (ICSE Full Form) ढूंढ रहे है? यदि हाँ तो आज मैं इस आर्टिकल के जरिए आपको ICSE Board kya hai? ICSE ka Full Form kya hota hai? के बारे में डिटेल में बताने जा रहा हूँ। इस पोस्ट को पढ़कर आप ICSE Board kya hota hai? (ICSE Full Form) के बारे में जान सकेंगे। 

ICSE kya hota hai? (ICSE Full Form)

तो दोस्तों आपको बता दें कि ICSE की Full Form Indian Certificate of Secondary Education (इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन) होता है।

ICSE Full Form : Indian Certificate of Secondary Education

ICSE Full Form in Hindi : इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (हिंदी में अर्थ : माध्यमिक शिक्षा का भारतीय प्रमाण पत्र)

ICSE Full Form : Indian Certificate of Secondary Education

Indian Certificate of Secondary Education (ICSE) क्या होता है? What is Indian Certificate of Secondary Education (ICSE)

दोस्तों जैसा की आप सभी जानते हैं की हमारे देश में बहुत सारे स्कूली एजुकेशन बोर्ड देश में अलग-अलग परीक्षा और परीक्षा से संबंधित कार्यवाहियों का पालन करते है। उन्ही में से एक ICSE Board भी है।

यह एक ऐसा एजुकेशन बोर्ड है, जो CISCE यानि The Council For The Indian School Certificate Examinations के द्वारा संचालित है। 

काउन्सिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस (CISCE) भारत का एक Private, Non-Government Education Board माना जाता है।  इस बोर्ड को मुख्य रूप से 1956 में Anglo-Indian Education हेतु हुई एक अन्तर्राज्यीय बैठक में संगठित किया गया था। इसका Headquarter नयी दिल्ली में स्थित है।

आप लोग तो यह जानते हैं की हमारे यहाँ मुख्यतः बच्चों को अंग्रेजी और हिन्दी माध्यम से स्कूली शिक्षा दी जाती है। इनमें से जो बच्चे हिन्दी में अपनी शिक्षा ग्रहण करते हैं वे सभी अपने-अपने राज्यों के आधीन स्कूली बोर्ड से शिक्षा प्राप्त करते हैं।

उदाहरण के लिए यदि कोई उत्तर प्रदेश राज्य का निवासी है तो वह हिन्दी मीडियम से शिक्षा के लिए U.P. बोर्ड के अंतर्गत शिक्षा प्राप्त करेगा। और यदि विद्यार्थी अंग्रेजी मीडियम के तहत एजुकेशन प्राप्त करना चाहते है तो वह दो ऑप्शन CBSE और ICSE में से किसी एक को चुनकर शिक्षा प्राप्त कर सकता है।

ICSE (Indian Certificate of Secondary Education) एक स्कूल शिक्षा बोर्ड है जो एक तरह का प्राइवेट और नॉन सरकारी एजुकेशन बोर्ड है जो भारत में रहने वाले एंग्लो इंडियन बच्चों और यहाँ के निवासी बच्चों की शिक्षा को बेहतर, आसान और सुगम बनाने के लिए बनाया गया बोर्ड है। इस बोर्ड के तहत दी जाने वाली शिक्षा अंग्रेजी माध्यम की होती है।

इन्हें भी देखें :-  AP Full Form in Hindi | AP का मतलब क्या होता है? जाने AP के बारे में कुछ जरुरी बाते।

Indian Certificate of Secondary Education (ICSE) की स्थापना 1958 में Cambridge University द्वारा भारत में एक परीक्षा आयोजित करने और उसका प्रशासन करने के लिए हुई। 1967 में यह Society Registration Act के अंतर्गत दर्ज किया गया।

ICSE बोर्ड को भारत में New Education Policy 1986 की सिफारिशों को पूरा करने के लिए बनाया गया था। इस बोर्ड द्वारा आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षाएं केवल English में  कराई जाती है। इसके अलावा  ICSE के Affiliated Colleges के नियमित छात्र ही इसकी परीक्षा में शामिल हो सकते है |  

ICSE से संबंधित खास जानकारियाँ :-

ICSE Board की ऑफिशियल वेबसाइटcisce.org
ICSE Board का हेल्पलाइन नंबर(011) 26413820, 26411706, 30820091/94
ICSE Board से संपर्क करने के लिए ऑफिस का एड्रेसCouncil for the Indian School Certificate Examinations

 

Pragati House, 3rd Floor, 47-48, Nehru Place,

New Delhi – 110019

ICSE का फैक्स नंबर (011) 26234575
शिकायत एवं सुझाव हेतु ऑफिशियल ईमेल आईडी council@cisce.org

 ICSE Board का इतिहास :-

ICSE Education Board का गठन सरकार की नई शिक्षा प्रणाली के तहत एंग्लो इंडियन एजुकेशन पॉलिसी अंतर्गत 1956 में हुआ था जिससे की देश में रहने वाले एंग्लो इंडियन बच्चों को उनका शिक्षा का अधिकार मिल सके। इस ICSE एजुकेशन बोर्ड संस्थान का मुख्यालय नई दिल्ली भारत में स्थित है। ICSE Board के अंतर्गत होने वाले एग्जाम CISCE (Council For The Indian School Certificate Examinations) के द्वारा निर्धारित दिशा निर्देश के अनुसार करवाए जाते हैं।

ICSE Board के अंतर्गत पढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट्स :-

जो भी स्टूडेंट ICSE Board के अंतर्गत शिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक होते हैं उन स्टूडेंट्स को छह सब्जेक्ट्स का अध्ययन करना होता है, जिसमें प्रत्येक Subject में एक से तीन पेपर होते हैं। इस तरह Subjects के आधार पर कुल 8 से 11 पेपर तैयार किये जाते है। 

जिन सब्जेक्ट्स में एक से अधिक पेपर (जैसे, Science) होते हैं, उन सब्जेक्ट्स में प्राप्त किये जाने वाले अंकों का Calculation उस सब्जेक्ट के सभी Papers के अंकों को लेकर उनके औसत द्वारा की जाती है। 

ICSE बोर्ड के द्वारा निर्धारित कक्षा 9 और 10 वीं के विद्यार्थियों के लिए सब्जेक्ट्स :-

FOR CLASSES IX, X के लिए अनिवार्य विषय

GROUP 1 

  • English – अंग्रेजी 
  • Second Language – कोई अन्य भाषा
  • History/Civics & Geography – इतिहास/ नागरिकशास्र और भूगोल
  • Science Application – विज्ञान अनुप्रयोग

GROUP 2  (इनमे से किसी भी 2 या 3 विषय का चुनाव कर लें )

  • Mathematics – गणित
  • Science (Physics, Chemistry, Biology) – विज्ञान
  • Commercial Studies – वाणिज्यिक अध्ययन
  • Economics – अर्थशास्त्र
  • Environmental Science – पर्यावरण विज्ञान
  • A Modern Foreign Language – विदेशी भाषा
  • A Classical Language – क्लासिकल भाषा

GROUP 3 (इनमे से किसी भी एक सब्जेक्ट को सेलेक्ट करना होता है )

  • Computer Applications – कम्प्यूटर
  • Technical Drawing – टेक्नीकल ड्रॉइंग
  • Drama – ड्रामा
  • Art – कला
  • Dance – नृत्य
  • Yoga – योगा
  • Indian Music – भारतीय संगीत
  • Carnatic Music
  • Instrumental Music – वाद्य संगीत
  • Physical Education – शारीरिक शिक्षा
  • Economic Applications – अर्थशास्त्र अनुप्रयोग
  • Commercial Applications – वाणिज्यिक अनुप्रयोग
  • Mass Media And Communication – मास मीडिया और संचार
  • Modern Foreign Language – मॉडर्न विदेशी भाषा
  • Environmental Applications – पर्यावरण अनुप्रयोग
  • Cooking – कुकिंग
  • Performing Arts – कला प्रदर्शन
इन्हें भी देखें :-  What is BUMS Full Form? BUMS का Full Form क्या होता है? जानें BUMS के बारे में जरूरी बातें…

ICSE बोर्ड के द्वारा निर्धारित कक्षा 11 और 12 वीं के विद्यार्थियों के लिए सब्जेक्ट्स :-

FOR CLASSES XI, XII

विद्यार्थियों को इनमें से किन्ही 6 विषयों का चुनाव करना होता है –

  • English (Compulsory)
  • English Literature
  • Indian Language
  • Modern Foreign Language
  • Classical Language
  • History
  • Political Science
  • Geography
  • Psychology
  • Sociology
  • Economics
  • Commerce
  • Accounting
  • Business Studies
  • Mathematics
  • Physics
  • Chemistry
  • Biology
  • Biotechnology
  • Physical Education
  • Home Sciences Or Home Economics
  • Fashion Design
  • Electronics
  • Engineering Physics
  • Computer Science
  • Geometrical And Mechanical Drawing
  • Geometrical And Building Drawing
  • Art
  • Hindustani Classical Music
  • Carnatic Music
  • Environmental Science
  • Socially Useful Productive Work

ICSE Board के फायदे 

  • ICSE Board एक ऐसा महत्वपूर्ण बोर्ड होता है, जो प्रमुख रूप से बच्चे के Holistic Development (पूर्ण विकास) पर केंद्रित होता है और इसका Syllabus संतुलित होता है।
  • इसका Syllabus अधिक Comprehensive होता है और इसमें छात्रों में Practical Knowledge और Analytical Skills बढ़ जाती है।
  • ICSE Board में जरूरी विषयों पर विशेष ध्यान दिया जाता है।
  • इस Syllabus में छात्रों को उनके मन मुताबिक Specific Subjects का चुनाव करने के लिए कहा जाता है।
  • इस बोर्ड  में केवल English Medium का ही इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए जो छात्र इंग्लिश मीडियम से पढ़ाई करना चाहते हैं, उनके लिए यह बोर्ड बेहद अच्छा माना जाता है।

ICSE Board और CBSE Board में अंतर :-

ICSE Board के अलावा भारत में CBSE Board सबसे पॉपुलर है। ICSE Board, सीबीएसई बोर्ड से कितना अलग है आईये जानते हैं :-

  • CBSE Board में आपको हिन्दी और अंग्रेज़ी दोनों माध्यम से पढ़ाई करने का ऑप्शन मिलता हैं और ICSE Board में पढ़ाई करने के लिए केवल अंग्रेज़ी माध्यम हैं।
  • CBSE Board में मैथ और साइंस जैसे विषयों पर ज़्यादा ध्यान केन्द्रित करते हैं जबकि ICSE Board में आपको भाषाओ, कला और दूसरे विषयों पर भी समान ध्यान दिया जाता हैं।
  • CBSE Board में Theory को अधिक महत्व दिया जाता हैं वहीं ICSE Board में Practical और परियोजना कार्यो पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है।
  • ICSE Board में CBSE Board के मुकाबले विद्यार्थी भी कम मात्रा में होते हैं ताकि शिक्षक हर विद्यार्थी पर पूरा ध्यान दे सके।
  • ICSE Board में हर विद्यार्थी को सिर्फ कोर्स के अलावा उसके पसंद के अन्य कौशल सीखने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाता हैं जबकि CBSE Board आपको सिर्फ कोर्स के विषयों पर ही ध्यान दिया जाता है।
  • ICSE Board में पढ़ाने का तरीका रचनात्मक हैं जो हर विद्यार्थी की क्षमता को पहचान सके।
  • ICSE Board की पढ़ाई CBSE Board की पढ़ाई के मुकाबले थोड़ा मुश्किल भी हैं।
  • ICSE Board की परीक्षा हर साल फरवरी और मार्च महीने के दौरान होती हैं और मई-जून तक उसके रिजल्ट आ जाते हैं। CBSE Board की परीक्षाएँ आमतौर पर मार्च महीने में आयोजित की जाती हैं।

FAQ’s About ICSE Full Form :-

Q . ICSE Board क्या है? ICSE की फुल फॉर्म क्या होती है?

Ans :  ICSE की Full Form Indian Certificate of Secondary Education (इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन) होता है।
ICSE Full Form : Indian Certificate of Secondary Education
ICSE Full Form in Hindi : इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (हिंदी में अर्थ : माध्यमिक शिक्षा का भारतीय प्रमाण पत्र)
ICSE (Indian Certificate of Secondary Education) एक स्कूल शिक्षा बोर्ड है जो एक तरह का प्राइवेट और नॉन सरकारी एजुकेशन बोर्ड है जो भारत में रहने वाले एंग्लो इंडियन बच्चों और यहाँ के निवासी बच्चों की शिक्षा को बेहतर, आसान और सुगम बनाने के लिए बनाया गया बोर्ड है। इस बोर्ड के तहत दी जाने वाली शिक्षा अंग्रेजी माध्यम की होती है।

इन्हें भी देखें :-  What is FRL Full Form? FRL का Full Form क्या होता है? जानें FRL के बारे में जरूरी बातें…
Q . ICSE की स्थापना कब हुई थी?

Ans : ICSE की स्थापना सन 1956 में हुई थी।

Q . ICSE Board का मुख्यालय कहाँ है?

Ans : ICSE Board का मुख्यालय दिल्ली में स्थित है।

Q. ICSE Board प्राइवेट बोर्ड है या फिर गवर्मेंट बोर्ड?

Ans :  ICSE Board एक प्राइवेट बोर्ड है जो CISCE (Council For The Indian School Certificate Examinations) के  अधीन है।

Q . CISCE कौन सी परीक्षाएँ आयोजित करवाती है?

Ans : CISCE (Council For The Indian School Certificate Examinations) निम्नलिखित परीक्षाएँ आयोजित करवाती है
 ICSE –  Indian Certificate of Secondary Education (10th के लिए)
ISC – Indian School Certificate (12th के लिए)
CVE (Certificate of Vocational Education)

तो दोस्तो इस आर्टिकल में हमने आपको ICSE Board क्या है? ICSE Full Form के बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको ICSE Board (ICSE Full Form) के बारे में जानकारी मिल गईं होगी। दोस्तो यदि आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने और दोस्तों के साथ शेयर जरूर कर देना ताकि और लोगों को भी इस  बारे में जानकारी मिल सके। आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए धन्यवाद!

 मिस्टर नितिन कुमार the nitin tech.com के Founder और Author है। इन्हें हमेशा से टेक्नोलॉजी से सम्बंधित जानकारी लेना और उसे लोगो के साथ शेयर करना पसंद है। अगर आपको इनके द्वारा शेयर की गई जानकारी अच्छी लगती है तो आप इन्हे Social Media पर फॉलो कर सकते है। Thank You!

इसे शेयर करें

Leave a Comment