What is ECE Full Form? ECE का Full Form क्या होता है? जानें ECE के बारे में जरूरी बातें…

ECE Full Form

दोस्तों क्या आपने कभी ECE शब्द सुना है? या क्या आप जानते हैं की ECE kya hota hai? ECE की फुल फॉर्म (ECE Full Form) क्या होती है?

नमस्कार दोस्तों the nitin tech.com पर आप सभी का स्वागत है। क्या आप भी इंटरनेट पर ECE के बारे मे (ECE Full Form) ढूंढ रहे है? यदि हाँ तो आज मैं इस आर्टिकल के जरिए आपको ECE kya hota hai? ECE ka Full Form kya hota hai? के बारे में डिटेल में बताने जा रहा हूँ। इस पोस्ट को पढ़कर आप ECE kya hota hai? (ECE Full Form) के बारे में जान सकेंगे।

ECE kya hota hai? (ECE Full Form)

तो दोस्तों आपको बता दें कि ECE की Full Form Electronics and Communication Engineering (इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग) होता है।

ECE Full Form : Electronics and Communication Engineering

ECE Full Form in Hindi : इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग

ECE Full Form : Electronics and Communication Engineering_

Electronics and Communication Engineering (ECE) क्या होता है? What is Electronics and Communication Engineering (ECE)

Electronics and Communication Engineering (ECE) इंजीनियरिंग की एक विशाल शाखा है जो इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज से संबंधित है।  ECE की मुख्य सब्जेक्ट इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज के बारे में रिसर्च, डिजाइन और डेवलेपमेंट करना है।  इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज से संबंधित कोई भी प्रॉब्लम को सॉल्व करना भी Electronics and Communication Engineering (ECE) की अंतर्गत आता है।

यह इंजीनियरिंग की वह शाखा है जिस के अंतर्गत इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस सर्किट और कम्युनिकेशन डिवाइसेज जैसे ट्रांसमीटर रिसीवर इंटीग्रेटेड सर्किट (IC) के बारे में अध्ययन करवाया जाता है। इंजीनियरिंग की इस शाखा के अंतर्गत आपको इलेक्ट्रॉनिक्स के बेसिक्स, एनालॉग और डिजिटल ट्रांसमिशन और डाटा reception , माइक्रोप्रोसेसर सेटेलाइट कम्युनिकेशन, माइक्रोवेव इंजीनियरिंग, एंटीना और wave Progression के बारे में भी बताया जाता है। 

 इंजीनियरिंग की इस ब्रांच के अंतर्गत आपको उस सभी डिवाइसेज के बारे में बताया जाता है जो कि इलेक्ट्रॉनिक और कम्युनिकेशन के लिए इस्तेमाल की जाती है।

हमारे आम जीवन में इस्तेमाल होने वाले इलेक्ट्रॉनिक के सभी डिवाइसेज जैसे टीवी, रेडियो, कंप्यूटर, मोबाइल इत्यादि सारे के सारे डिवाइस Electronics and Communication Engineering (ECE) के अंतर्गत बनाए जाते हैं। 

Electronics and Communication Engineering (ECE) की शाखा बहुत बड़ी है इसके अंदर बहुत बड़े-बड़े उपकरण तक बनाए जाते हैं। एक इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर सेटेलाइट के उपकरण को डिजाइन करता है और उसे बनाता है, जिससे कि हमारे TV टेलीफोन और इंटरनेट सर्विस चलती है। 

Electronics & Communication Engineer कैसे बने?

अगर आपकी रुचि Electronics and Communication Engineering (ECE) में ज्यादा है तो आप एक Electronics & Communication के Engineer बन सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको बैचलर डिग्री हासिल करनी होगी। अगर आप 10वीं कक्षा के बाद में ही Electronics & Communication के फील्ड में जाना चाहते हैं तो आपको 10 वीं कक्षा करते ही पॉलिटेक्निक में डिप्लोमा के लिए एडमिशन लेना होगा। पॉलिटेक्निक में ही आपको इलेक्ट्रॉनिक और कम्युनिकेशन की शाखा मिलेगी। जिससे आप अपना 3 साल का डिप्लोमा पूरा करेंगे।

डिप्लोमा पूरा करने के बाद में यदि आप आगे इसी क्षेत्र में और ज्यादा डीटेल में पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप इसी फील्ड में डिग्री भी कर सकते हैं। या फिर आप किसी कंपनी में नौकरी पा सकते हैं और नौकरी के साथ साथ आप अपनी डिग्री को भी पूरा कर सकते हैं।

 अगर आप 12वीं कक्षा के बाद में इस क्षेत्र में जाना चाहते हैं तो आपको 12 वीं कक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ से पास करनी होगी। और फिर आप Electronics & Communication शाखा से बीटेक करेंगे जिससे कि आपको Electronics & Communication Engineer की डिग्री मिल जाएगी

इन्हें भी देखें :-  What is DCP Full Form? DCP का Full Form क्या होता है? जानें DCP के बारे में जरूरी बातें…

डिग्री हासिल करने के बाद में आप किसी भी कंपनी में एक Electronics & Communication Engineer  के रुप में नौकरी कर सकते हैं। लेकिन अगर आप डिग्री के बाद में भी आगे पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप Electronics & Communication से मास्टर डिग्री कर सकते हैं इसके बाद में आप Electronics & Communication के टीचर भी बन सकते हैं या फिर किसी अच्छी कंपनी में अच्छी सैलरी के साथ में जॉब कर सकते हैं।

Electronics & Communication Engineer के लिए जॉब ऑप्शन

Electronics & Communication Department से इंजीनियरिंग करने के बाद में आपके सामने नौकरी के बहुत सारे ऑप्शन होंगे। लेकिन यह सभी नौकरियां आपको आपके काम के अनुभव के अनुसार ही मिलेगी। अगर आप डिप्लोमा करते ही नौकरी पाने की कोशिश करेंगे तो आपको Electronics & Communication Engineer के तौर पर जॉब नहीं मिल सकती इसके लिए पहले आपको इससे संबंधित अनुभव लेना होगा और जैसे ही आप को काम का अनुभव होगा इसके बाद में ही आपको एक Electronics & Communication Engineer के तौर पर जॉब मिल जाएगी।

लेकिन यदि आप ECE की डिग्री कोर्स करते हैं तो आपके सामने बहुत जॉब ऑफर होंगे। जिन की लिस्ट हमने नीचे दी है। नीचे दी गई लिस्ट में से आप अपने काम के अनुसार या आपकी रुचि के अनुसार कोई भी जॉब चुन सकते हैं और उसी डिपार्टमेंट में काम कर सकते हैं ।

Job After Electronics and Communication Engineering (ECE)

  • Broadcasting Professional Engineer
  • Engineer, Electrical Distribution Planning
  • Planning Engineer, Electrical Energy Transmission
  • Instrumentation And Control Engineer
  • Research Engineer – Nanoelectronics
  • Chief Electrical Engineer
  • Spacecraft Electronics Engineer
  • Electrical Power Scheduling Engineer
  • Design And Development Engineer, Electrical And Electronic Systems
  • Electrical Systems Planning Engineer
  • Roadway Lighting Design Engineer
  • Metrology Engineer
  • Electrical Engineer
  • Audio Engineer – Electricity And Electronics
  • Electrical Network Engineer
  • Professional Engineer, Broadcasting
  • Radio Research Engineer
  • Signal Engineer
  • Design Engineer
  • ElectricalEngineer
  • Electrical Energy Transmission
  • Radar Engineer
  • Process Instrumentation Engineer
  • Electrical Power Systems Design Engineer
  • Meter Engineer
  • Electrical Energy Transmission Planning Engineer
  • Chief Electronics Engineer
  • Electrical Energy Transmission Engineer
  • Electrical Equipment Engineer
  • Protection Engineer, Electrical Systems
  • Microelectronics Engineer
  • Electronics Research Engineer
  • Design Engineer, Radio And Television Broadcasting System
  • Protective Relay Engineer
  • Rural Electrification Engineer
  • Overhead Electrical Distribution Engineer
  • Engineer, Instrumentation
  • Satellite Antenna Engineer
  • Electronics Test Engineer
  • Electrical Research Engineer
  • Satellite Instrumentation Engineer
  • Process Control Engineer, Electrical
  • Design Engineer, Electrical Power Systems
  • Electrical Engineer, Process Control
  • Low Voltage Equipment Engineer
  • Electrical Distribution Engineer
  • Planning Engineer, Electrical Systems
  • Engineer, Electrical Energy Transmission Planning
  • Line Construction Engineer
  • Displays And Controls Design Engineer
  • Underground Electrical Distribution Engineer
  • Electrical And Electronics Research Engineer
  • Technical Services Electrical Engineer
  • Chief Engineer – Radio And Television Broadcasting
  • Engineer, Instrumentation And Control
  • Digital Circuit Design Engineer
  • Circuit Design Engineer
  • Electrical Design Engineer
  • Analogue Amplifier Design Engineer
  • Avionics Engineer
  • Service Engineer, Electrical Power Systems
  • Distribution Planning Engineer, Electrical
  • Control Systems Engineer
  • Instrumentation Engineer
  • Electronics Engineer
  • Radio And Television Broadcasting Design Engineer
  • Antenna Engineer
  • Radio And Television Broadcasting Systems Design Engineer
  • Engineer, Avionics
  • Television Systems Engineer

Electronics & Communication Engineer की सैलरी

Electronics & Communication Engineer की सैलरी दूसरी नौकरियों की तरह उसके काम और पद के ऊपर निर्भर करती है। अगर आप डिप्लोमा करते ही इस क्षेत्र में नौकरी पाएंगे तो आपकी सैलरी 8 से 15 हजार रूपए के आसपास होगी। और अगर आप डिग्री हासिल करने के बाद में इस फील्ड में जॉब के लिए ट्राई करेंगे तो आपकी सैलरी लगभग 15000 से ₹25000 तक होगी। और अगर आप मास्टर डिग्री हासिल करने के बाद इस फील्ड में जॉब के लिए ट्राई करते हैं तो आपकी सैलरी 25 से 35 हजार रुपए तक हो सकती है।

इन्हें भी देखें :-  What is NSO Full Form? | NSO का Full Form क्या होता है?

लेकिन यह सैलरी आपके काम के अनुभव के ऊपर भी निर्भर करेगी जैसे कि अगर आप डिप्लोमा करने के बाद में काम करते हैं तो आपकी सैलरी शुरू में कम होगी लेकिन जितने समय में आप डिग्री हासिल करेंगे उतने समय अगर आप काम करेंगे तो आपकी सैलरी 3 साल में 1 डिग्री करने वाले इंजीनियर के बराबर हो जाएगी और आप काम करने के साथ-साथ अपनी पढ़ाई को भी जारी रख कर डिग्री पूरी कर सकते हैं। इससे आपकी सैलरी और भी ज्यादा हो जाएगी क्योंकि आपके पास 3 साल काम करने का अनुभव और 1 डिग्री होगी।

इसके अलावा विदेशों में भी इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन इंजीनियर की बहुत ज्यादा डिमांड है। क्योंकि भारत के मुकाबले विदेशों में बहुत ज्यादा इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है और वहां पर नए-नए इलेक्ट्रॉनिक के उपकरण बनाए जाते हैं इसीलिए वहां पर इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन इंजीनियर की काफी डिमांड है। तो अगर आप विदेशों में नौकरी करना चाहते हैं तो आपको किसी अच्छे विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन की डिग्री हासिल करनी होगी। और पहले भारत में ही काम कर के काम का अनुभव लेना होगा तभी आप विदेशों में नौकरी पा सकते हैं।

लेकिन अगर आप सीधे डिग्री करने के बाद में ही नौकरी पाना चाहते हैं तो आपको विदेश में ही अपनी डिग्री पूरी करनी होगी। विदेश में डिग्री पूरी करने से आपको वहां पर नौकरी मिलने की संभावना बहुत ज्यादा हो जाती है। 

तो दोस्तों इस आर्टीकल में आपको ECE की फुल फॉर्म (ECE Full Form) : Electronics and Communication Engineering (ECE) के बारे में जानकारी दी है लेकिन दोस्तों ECE टर्म की इसके अलावा कुछ अन्य भी फुल फॉर्म होती हैं जिनके बारे में यहां नीचे दिया गया है

ECE Full Form in Medical

Early Clinical Exposure (ECE)

ECE full form in Medical

Early Clinical Exposure (ECE) एक एजूकेशन सिस्टम है, जो मेडिकल स्टूडेंट्स को रियल सोल्यूशन की ओर उन्मुख करती है और मेडिकल कॉलेज के फर्स्ट ईयर में रियल लाइफ सिचुएशन के साथ उनके सैद्धांतिक ज्ञान को सहसंबंधित करने में मदद करती है।

यह मूल रूप से “एक एजूकेशन और लर्निंग की सिस्टम है जो मेडिकल छात्रों को रोगियों (वास्तविक मानव संपर्क) की मेडिकल कॉलेज के पहले वर्ष में, सामाजिक या नैदानिक ​​संदर्भ में स्वास्थ्य, बीमारी या बीमारी के बारे में सीखने को बढ़ावा देती है, और मेडिकल प्रोफेशनल्स की भूमिका के बारे में जानकारी देती है। ”

ECE Full Form in Education

Early Childhood Education (ECE)

ECE Full Form in Education

Early Childhood Education (ECE), जिसे नर्सरी एजूकेशन के नाम से भी जाना जाता है, एजूकेशन सिस्टम की एक ब्रांच है जो बच्चों की बर्थ से लेकर आठ साल की उम्र तक (औपचारिक और अनौपचारिक रूप से) एजूकेशन से संबंधित है।

Ece Full Form in Chemistry

Electro-Chemical Equivalent (ECE)

Ece Full Form in Chemistry

किसी पदार्थ का Electro-Chemical Equivalent (विद्युत-रासायनिक तुल्यांक-ECE) उस पदार्थ का द्रव्यमान होता है जो किसी एक इलेक्ट्रोड में जमा होता है जब 1 एम्पियर की धारा 1 सेकंड के लिए प्रवाहित की जाती है, अर्थात एक कूलम्ब की विद्युत की मात्रा प्रवाहित की जाती है।

एक Electro-Chemical Equivalent (ECE) एक इलेक्ट्रोकेमिकल प्रॉसेस में बिजली के एक कूलम्ब के पारित होने से उत्पादित या खपत ग्राम में पदार्थ की मात्रा होती है।

FAQ About ECE Full Form 

Q. What is ECE Full Form? ECE की फुल फॉर्म क्या होती है? 

Ans : ECE की Full Form Electronics and Communication Engineering (इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग) होता है।
ECE Full Form : Electronics and Communication Engineering
ECE Full Form in Hindi : इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग
Electronics and Communication Engineering (ECE) इंजीनियरिंग की एक विशाल शाखा है जो इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज से संबंधित है।  ECE की मुख्य सब्जेक्ट इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज के बारे में रिसर्च, डिजाइन और डेवलेपमेंट करना है।  इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज से संबंधित कोई भी प्रॉब्लम को सॉल्व करना भी Electronics and Communication Engineering (ECE) की अंतर्गत आता है।

इन्हें भी देखें :-  IQAC Full Form in Hindi | IQAC का मतलब क्या होता है? जाने IQAC के बारे मे जरुरी बातें
Q. ECE का कोर्स किस बारे में है? What is ECE Course all about?

Ans : Electronics and Communication Engineering (ECE) एक उभरता हुआ करियर ऑप्शन है।  इंजीनियरिंग के इस फील्ड के अंतर्गत इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस सर्किट और कम्युनिकेशन डिवाइसेज जैसे ट्रांसमीटर रिसीवर इंटीग्रेटेड सर्किट (IC) के बारे में अध्ययन करवाया जाता है। इंजीनियरिंग की इस शाखा के अंतर्गत आपको इलेक्ट्रॉनिक्स के बेसिक्स, एनालॉग और डिजिटल ट्रांसमिशन और डाटा reception , माइक्रोप्रोसेसर सेटेलाइट कम्युनिकेशन, माइक्रोवेव इंजीनियरिंग, एंटीना और wave Progression के बारे में भी बताया जाता है। 
 इंजीनियरिंग की इस ब्रांच के अंतर्गत आपको उस सभी डिवाइसेज के बारे में बताया जाता है जो कि इलेक्ट्रॉनिक और कम्युनिकेशन के लिए इस्तेमाल की जाती है।

हमारे आम जीवन में इस्तेमाल होने वाले इलेक्ट्रॉनिक के सभी डिवाइसेज जैसे टीवी, रेडियो, कंप्यूटर, मोबाइल इत्यादि सारे के सारे डिवाइस Electronics and Communication Engineering (ECE) के अंतर्गत बनाए जाते हैं। 

Electronics and Communication Engineering (ECE) की शाखा बहुत बड़ी है इसके अंदर बहुत बड़े-बड़े उपकरण तक बनाए जाते हैं। एक इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर सेटेलाइट के उपकरण को डिजाइन करता है और उसे बनाता है, जिससे कि हमारे TV टेलीफोन और इंटरनेट सर्विस चलती है। 

Q . क्या ECE एक अच्छा करियर ऑप्शन है? Is ECE a Good Carrier Option?

Ans : यदि आप इलेक्ट्रोनिक के कनैक्शन और सर्किट में अच्छे हैं तो Electronics and Communication Engineering (ECE) आपके लिए एक अच्छा आप्शन है। ECE का दायरा बहुत अधिक है। इसे करने के बाद आप आईटी उद्योग, एयरलाइंस, दूरसंचार आदि में शामिल हो सकते हैं। भारतीय सशस्त्र बल भी Electronics and Communication Engineers के लिए भी रोजगार प्रोवाइड कराते हैं।

Q. क्या ECE का कोर्स करने के बाद सैलरी अच्छी मिलती है? Is ECE a good salary?

Ans : भारत में ECE इंजीनियर का वेतन ₹ 0.2 लाख से ₹ ​​16.8 लाख के बीच है और औसत वार्षिक वेतन ₹ 3.0 लाख है। जो मेरे हिसाब से सही सही है।

Q. क्या ECE के कोर्स की पढ़ाई आसान है? Is ECE easy to study?

Ans: ECE वास्तव में इंजीनियरिंग की सबसे कठिन ब्रांसेज में से एक है, लेकिन यह आप पर निर्भर करता है कि आपके लिए इस कोर्स की पढ़ाई करना कठिन है या आसान।  इसलिए यदि आप वास्तव में इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्युनिकेशन में रुचि रखते हैं तो आपके लिए इस कोर्स की पढ़ाई करना आसान हो जाएगा। लेकिन अगर आपकी रुचि नहीं है तो ECE का कोर्स करना कठीन होता है।

Q. ECE कोर्स के मुख्य सब्जेक्ट क्या है? What is the main subjects in ECE?

Ans : Electronics and Communication Engineering (ECE) के डिप्लोमा कोर्स में पढ़ाए जाने वाले मुख्य सब्जेक्ट्स हैं: फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथ, इसके अलावा इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट और डिवाइस, इंजीनियरिंग मशीन और मेटेरियल, बिजनेस कम्युनिकेशन, टेक्निकल ड्राइंग, इंजीनियरिंग के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल आदि सब्जेक्ट्स की भी जानकारी दी जाती है।

इसे शेयर करें

Leave a Comment