What is CME Full Form? CME का Full Form क्या होता है? जानें CME के बारे में जरूरी बातें…

CME Full Form

दोस्तों क्या आपने कभी CME शब्द सुना है? या क्या आप जानते हैं की CME kya hai? CME की फुल फॉर्म (CME Full Form) क्या होती है?

नमस्कार दोस्तों the nitin tech.com पर आप सभी का स्वागत है। क्या आप भी इंटरनेट पर CME के बारे मे (CME Full Form) ढूंढ रहे है? यदि हाँ तो आज मैं इस आर्टिकल के जरिए आपको CME kya hota hai? CME ka Full Form kya hota hai? के बारे में डिटेल में बताने जा रहा हूँ। इस पोस्ट को पढ़कर आप CME kya hai? (CME Full Form) के बारे में जान सकेंगे।

 

CME kya hai? (CME Full Form)

तो दोस्तों आपको बता दें कि CME की Full Form Continuing Medical Education (कंटिन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन) होता है।

CME Full Form : Continuing Medical Education 

CME Full Form in Hindi : कंटिन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन (हिंदी में अर्थ “सतत चिकित्सा शिक्षा”)

CME Full Form - Continuing Medical Education

Continuing Medical Education (CME) क्या है? What is Continuing Medical Education (CME)

Continuing Medical Education (CME) : लगातार मेडिकल की फील्ड में एजुकेशन लेते रहने की प्रक्रिया को ही Continuing Medical Education (CME) कहा जाता है।

यह विकास और नई टेक्नोलॉजी के बीच बने रहने और अपनी क्षमता को बनाए रखने या इंप्रूवमेंट के लिए जरुरी होता है। लाइसेंस प्राप्त मेडिकल प्रोफेसनल्स के लिए Continuing Medical Education (CME) आवश्यक होता है।

CME की एक्टिविटीज को ऑनलाइन प्रोग्राम, लिखित प्रकाशन, लाइव इवेंट, ऑडियो, वीडियो या अन्य इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के रूप कराया जाता है।

इसमें मेडिकल फील्ड में एक्टिव प्रोफेशनल्स को इस क्षेत्र में होने वाले विकास से अवगत कराने के उद्देश्य से Continuing Medical Education (CME) अकादमी की प्रमुख गतिविधियों में से एक रही है।

परंपरागत रूप से, CME शब्द का अर्थ “सतत चिकित्सा शिक्षा” के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह मेडिकल प्रोफेशनल्स के लिए मेडिकल फील्ड में तेजी से डेवलप होने वाले तरीको की जानकारी लिए एक तंत्र है। COVID युग में, डॉक्टरों के लिए यह और भी आवश्यक हो गया है कि वे चिकित्सा समुदाय की प्रतिक्रिया के साथ विकसित होने वाले उपचार के तरीके को बनाए रखें। इसलिए Continuing Medical Education (CME) समय की मांग है।

Continuing Medical Education (CME) सतत चिकित्सा शिक्षा कार्यक्रम के उद्देश्य :

  •  हेल्थ केयर डिलीवरी सिस्टम के विभिन्न लेवल्स और या बायोमेडिकल रिसर्च में शामिल मेडिकल प्रोफेशनल्स और पैराप्रोफेशनल को नॉलेज, कौशल और सिस्टम को अपडेट करने के अवसर प्रदान करना।
  •  मेडिकल साइंस के विभिन्न स्पेशलाइजेशन कोर्सेस के पोस्ट ग्रेजुएट के छात्रों के लिए शैक्षिक कार्यक्रमों को डिजाइन और कार्यान्वित करने के लिए (राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड द्वारा आयोजित गैर-औपचारिक धारा से उच्च स्तरीय पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एग्जाम के लिए उम्मीदवारों की तैयारी पर ध्यान देने के लिए)।
  • कार्यक्रम के तहत कवर किए गए लक्षित समूहों की विभिन्न श्रेणियों के लिए उपयुक्त सेल्फ स्टडी कंटेंट की तैयारी और प्रसार करना।
  • ट्रेनिंग की आवश्यकताओं और शैक्षिक आवश्यकताओं के अनुरूप प्रिंटेड और गैर-प्रिंटेड एजुकेशन के संसाधन सामग्री विकसित करना।

Continuing Medical Education (CME) के तहत किए जाने वाले कार्य

Continuing Medical Education (CME) के अन्तर्गत निम्नलिखित कार्य किया जाता है :

  • सेमिनार / संगोष्ठी
  • कार्यशालाए
  • अल्पकालिक कोर्सेस
  • हेल्थ के लिए मानव संसाधन के विकास के शैक्षिक कार्यक्रम (जैसे साइंटिफिक एक्सचेंज प्रोग्राम / जूनियर मेडिकल साइंटिस्ट का प्रशिक्षण आदि)।

 इन कार्यक्रमों को NAMS जोनल / स्टेट चैप्टर, जोनल संयोजकों / राज्य संपर्क अधिकारियों, चिकित्सा संस्थानों और, राष्ट्रीय पेशेवर संघों के माध्यम से कार्यान्वित किया जा रहा है। इनमे CME कार्यक्रम समिति नियमित आधार पर कार्यों की प्रगति का मार्गदर्शन और निगरानी करती है।

Continuing Medical Education (CME) सतत चिकित्सा शिक्षा कार्यक्रम के लाभ :

Continuing Medical Education (CME) से कई लाभ हैं। सबसे पहले, यह मेडीकल प्रोफेशनल्स को अपने नॉलेज को अपडेट करने की सुविधा देता है। दूसरा, यह सीनियर मेडीकल प्रोफेशनल्स को अपने मेडिकल सोसाइटी को डेप्थ के साथ अपनी नॉलेज शेयर करने का अवसर प्रदान करता है। तीसरा, CME सभी मेडीकल प्रोफेशनल्स को एक साथ आने और एक-दूसरे को जानने का अवसर प्रदान करते हैं, जिससे नेटवर्किंग के उत्कृष्ट अवसर मिलते हैं।

इन्हें भी देखें :-  CPC Full Form in Hindi? | CPC का मतलब क्या होता है? जानें CPC के बारे में जरुरी बातें

इन बौद्धिक सहयोगों का उपस्थित लोगों पर दीर्घकालिक प्रभाव पड़ता है। चिकित्सकों के लिए अपने दिन-प्रतिदिन के कार्यों को छोड़कर मेडिकल स्कूल वापस जाना असंभव है। CME मेडिकल एजुकेशन के प्रसार और इस्तेमाल के लिए एक सुरक्षित वातावरण प्रदान करते हैं।

यह व्यापक रूप से स्वीकार किया जाता है कि सीखना एक जीवन भर चलने वाली प्रक्रिया है। प्रौद्योगिकी में तेजी से प्रगति और प्रौद्योगिकी और मेडिकल साइंस के समामेलन के साथ, दुनिया भर के डॉक्टर नुकसान में हैं। क्योंकि कोई भी CME भविष्य के लिए किसी प्रैक्टिशनर को पूरी तरह से तैयार नहीं कर सकता है। अतः छोटी प्रगति अंततः दीर्घकालिक विकास का कारण बन सकती है।

भारत में CME Programs

भारत में CME इंडियन मेडीकल एसोसिएशन और संबंधित स्टेट मेडिकल काउंसिल द्वारा शासित होते हैं। 2011 में, MCI (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) ने डॉक्टरों के लिए हर पांच साल में कम से कम 30 घंटे के लिए CME प्रोग्राम में भाग लेना अनिवार्य कर दिया। इससे पहले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के साथ-साथ अन्य मेडिकल स्कूलों और अस्पतालों द्वारा CME कार्यक्रम आयोजित किए जाते थे। कभी-कभी, इन कार्यक्रमों का आयोजन फार्मास्युटिकल उद्योग भागीदारों के सहयोग से किया जाता है।

CME Credit

आज, किसी भी डॉक्टर को निजी या सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों में अभ्यास करते रहने के लिए सतत चिकित्सा शिक्षा (CME) Cradit अर्जित करना अनिवार्य है।

भारत में, 65 वर्ष से कम आयु के सभी प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों को अपने लाइसेंस का नवीनीकरण कराने के लिए हर 5 साल में 30 घंटे का CME प्रोग्राम पूरा करना होता है।

भारत में डॉक्टर मेडिकल इंस्टीट्यूशन द्वारा आयोजित सेमिनारों और कार्यशालाओं के माध्यम से CME Credit अर्जित कर सकते हैं। इसके अलावा डॉक्टर्स विभिन्न ऑनलाइन CME एजुकेशन प्रोवाइडर से ऑनलाइन CME कोर्स भी कर सकते हैं।

दुनिया भर के मेडिकल कॉलेज 4 अलग-अलग तरीकों से CME सर्टिफिकेशन कोर्स प्रदान कर रहे हैं।

Free CME Credit Programs 

जैसा कि नाम से पता चलता है कि इन प्रोग्राम्स के द्वारा CME Credit बिना किसी फीस दिए अर्जित किए जा सकते हैं। इन प्रोग्राम्स में डॉक्टर्स को प्रशिक्षित करने के लिए सेमिनार, वेबिनार, सम्मेलन और विभिन्न ऑनलाइन लर्निंग प्रोग्राम्स आते हैं।

In Person CME Program

यह ऐसे CME Programs है जिसमें डॉक्टरों और अन्य मेडीकल प्रोफेशनल्स की भौतिक उपस्थिति की आवश्यकता होती है। वे आमतौर पर सम्मेलन हॉल और होटलों में आयोजित किए जाते हैं।

Online CME Course

यह CME Programs के सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है। जो दुनिया भर में बहुत प्रसिद्ध है। भारत में, Omnicuris और Medvarsity जैसे प्लेयर्स इस प्रकार के CME Programs की पेशकश कर रहे हैं, जिनमें आप अपने लिविंग रूम में बैठकर भी आराम से भाग लिया जा सकता है।

Hybrid CME Programs

इस प्रकार के CME Programs में भौतिक रूप से भाग लेने के लिए कुछ मॉड्यूल की आवश्यकता होती है और शेष मॉड्यूल को Online Mode के माध्यम से आगे बढ़ाया जा सकता है।

भारत में CME (Continuing Medical Education) के लिए नियम और विनियम

Continuing Medical Education (CME) की 1983 और 1987 में हुई परामर्शी बैठकों के आधार पर निम्नलिखित सिफारिशें की गईं।

  •  सभी मेडिकल और हेल्थ कर्मचारियों के लिए Continuing Medical Education (CME) को अनिवार्य बनाने और समय-समय पर प्रशिक्षण के लिए निर्धारित न्यूनतम घंटों से गुजरना होगा।
  • प्रत्येक पेशेवर समाज को उचित और प्रासंगिक Continuing Medical Education (CME) विकसित करना चाहिए जो प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली में सार्थक भूमिका निभा सके और इस उद्देश्य के लिए CME की एक समिति की स्थापना करनी चाहिए।
  • प्रत्येक समाज को विभिन्न राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों को प्राथमिकता देनी चाहिए।
  • समाजों को बहु-विषयक तरीके से कार्यक्रम विकसित करने चाहिए जो वहां की स्थानीय समस्या पर आधारित हों।
  • प्रत्येक पेशेवर समाज के पास अपनी Continuing Medical Education (CME) गतिविधियों के लिए योजना, कार्यान्वयन और मूल्यांकन के लिए एक CME सेल होना चाहिए।
  • नेशनल एकेडमी ऑफ मेडिकल साइंसेज CME के उद्देश्य के लिए राष्ट्रीय समन्वय निकाय होना चाहिए।
  • NB परीक्षाओं के लिए उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों की विशेष जरूरतों को ध्यान में रखते हुए, प्रत्येक पेशेवर समाज NB परीक्षा की तैयारी करने वालों के लिए शैक्षिक कार्यक्रम आयोजित करेगा।
  • Continuing Medical Education (CME) और हेल्थ एजुकेशन को हेल्थ साइंस के एक अनिवार्य घटक के रूप में मान्यता दी जानी चाहिए जो राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति के घोषित उद्देश्यों के अनुरूप होना चाहिए।
इन्हें भी देखें :-  सिर्फ 500 रुपए में YouTubers के लिए बेस्ट माइक | Best Mic for YouTube

65 वर्ष से कम आयु के सभी डॉक्टरों और मेडिकल प्रोफेशनल्स को हर पांच साल में 30 घंटे का CME Credit प्राप्त करना अनिवार्य कर दिया गया है। (जिनमे उन्हे अधिकतम 6 घंटे / वर्ष CME Cradit प्राप्त करने की अनुमति है। वे प्रोफेशनल्स जो 65 वर्ष से अधिक आयु के हैं, उन्हें CME Credit प्राप्त करने की आवश्यकता नहीं है।

भारत में CME Programs Online मोड के माध्यम से अभी भी प्रारंभिक अवस्था में है। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) ने इनमें से किसी भी कोर्स को मान्यता नहीं दी है, जो एक बड़ी कमी है।

Omnicuris जैसे कुछ निजी खिलाड़ी MCI द्वारा अनुमोदित CME Course प्रदान करते हैं। उनका पोर्टल लगभग 209 CME Courses को सूचीबद्ध करता है और दावा करता है कि उन्होंने भारत में 12 राज्य सरकारों और 10+ से अधिक Medical Councils के साथ करार किया है।

दिलचस्प बात यह है कि CME India एक पहल है जिसे झारखंड के चिकित्सकों द्वारा एक व्हाट्सएप ग्रुप के रूप में शुरू किया गया है, जिसने CME Programs की डिलीवरी में अखिल भारतीय स्तर पर एक सराहनीय काम किया है। उनके पास CME रिपोजिटरी नामक एक खंड में विभिन्न विशेषज्ञों द्वारा लगभग 45 शोध निष्कर्षों का संग्रह है और लगभग 25 मूल्यवान केस स्टडीज हैं जिन्हें CME India Case Study कहा जाता है ताकि अभ्यास करने वाले चिकित्सकों और डॉक्टरों को उनके क्षेत्र में नए विकास पर शिक्षित किया जा सके।

कर्नाटक मेडिकल काउंसिल अपने पोर्टल के माध्यम से मेडिकल, नर्सिंग, डेंटल और आयुर्वेदिक पेशेवरों के लिए ऑनलाइन CME Course प्रदान करती है।

लेकिन दुर्भाग्य से यह साइट अभी अपने शुरुआती चरण में है और वर्तमान में केवल कुछ कोर्सेस की पेशकश की जा रही है। कर्नाटक मेडिकल काउंसिल का कहना है कि उसने Online CME Programs की पेशकश के लिए Omnicuris के साथ करार किया है।

एक डिजिटल भविष्य

इस क्षेत्र के विशेषज्ञों के अनुसार, भारत के MCI (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) द्वारा जल्द ही Online CME को अपनाया जाना चाहिए ताकि इस क्षेत्र में प्रैक्टिशनर्स को आगे बढ़ाया जा सके। आंकड़े कहते हैं कि हमारे पास प्रति 1000 रोगियों पर 1 डॉक्टर है और डॉक्टर से रोगी अनुपात में यह असमानता बताती है कि CME का एक Online तरीका चिकित्सकों को अपने क्षेत्र में हो रहे विकास में आगे रहने में मदद कर सकता है।

इसके अलावा, सभी प्रेक्टिशनर्स से स्वयं को उन्नत करने के लिए व्यक्तिगत सम्मेलनों और सेमिनारों में भाग लेने की अपेक्षा करना एक कठिन कार्य है।

चिकित्सा पेशेवरों की भारी कमी को देखते हुए, एक लाख डॉक्टरों के लिए 35 काम के घंटों का नुकसान बहुत बड़ा हो सकता है और इस दृष्टिकोण से, Online CME Programs को अपनाना एक आशाजनक प्रस्ताव जैसा लगता है।

तो दोस्तों ऊपर ऑर्टिकल में हमने CME की फुल फॉर्म (CME Full Form) Continuing Medical Education के बारे में जानकारी दी है।

लेकिन दोस्तों ऊपर दिए गए CME के Full Form के अलावा इस टर्म के कुछ और भी Full Form होते हैं जिनके बारे में जानकारी यहां नीचे दी गई है 

  • CME Full Form In army : Courtesy Marine Examination
  • CME Full Form In Railway : Chief Mechanical Engineer
  • CME Full Form In Commerce : Chicago Mercantile Exchange
  • CME Full Form In Networking : Communications Manager Express

FAQ About CME Full Form

Q . CME का Full Form क्या होता है?

Ans : CME की Full Form Continuing Medical Education (कंटिन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन) होता है।
CME Full Form : Continuing Medical Education 
CME Full Form in Hindi : कंटिन्यूइंग मेडिकल एजुकेशन (हिंदी में अर्थ “सतत चिकित्सा शिक्षा”)
लगातार मेडिकल की फील्ड में एजुकेशन लेते रहने की प्रक्रिया को ही Continuing Medical Education (CME) कहा जाता है।
यह विकास और नई टेक्नोलॉजी के बीच बने रहने और अपनी क्षमता को बनाए रखने या इंप्रूवमेंट के लिए जरुरी होता है। लाइसेंस प्राप्त मेडिकल प्रोफेसनल्स के लिए Continuing Medical Education (CME) आवश्यक होता है।

Q . CME प्रोग्राम (Continuing Medical Education / सतत चिकित्सा शिक्षा कार्यक्रम)  के क्या लाभ होते हैं?

Ans : Continuing Medical Education (CME) प्रोग्राम से कई लाभ हैं। सबसे पहले, यह मेडीकल प्रोफेशनल्स को अपने नॉलेज को अपडेट करने की सुविधा देता है। दूसरा, यह सीनियर मेडीकल प्रोफेशनल्स को अपने मेडिकल सोसाइटी को डेप्थ के साथ अपनी नॉलेज शेयर करने का अवसर प्रदान करता है। तीसरा, CME सभी मेडीकल प्रोफेशनल्स को एक साथ आने और एक-दूसरे को जानने का अवसर प्रदान करते हैं, जिससे नेटवर्किंग के उत्कृष्ट अवसर मिलते हैं।

इन्हें भी देखें :-  realme narzo 30 5G  रियल मी का लेटेस्ट बजट 5G मोबाइल, अमेजिंग DRE टेक्नोलोजी के साथ
Q . भारत में CME Programs का क्या स्टेटस है?

Ans : भारत में CME प्रोग्राम इंडियन मेडीकल एसोसिएशन और संबंधित स्टेट मेडिकल काउंसिल द्वारा शासित होते हैं। 2011 में, MCI (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) ने 65 वर्ष से कम आयु के सभी डॉक्टरों और मेडिकल प्रोफेशनल्स को हर पांच साल में 30 घंटे का CME प्रोग्राम ज्वाइन करना अनिवार्य कर दिया गया है। (जिनमे उन्हे अधिकतम 6 घंटे / वर्ष CME प्रोग्राम ज्वाइन करने की अनुमति है। वे प्रोफेशनल्स जो 65 वर्ष से अधिक आयु के हैं, उन्हें CME प्रोग्राम ज्वाइन करना जरूरी नहीं है।
 इससे पहले अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के साथ-साथ अन्य मेडिकल स्कूलों और अस्पतालों द्वारा CME कार्यक्रम आयोजित किए जाते थे। कभी-कभी, इन कार्यक्रमों का आयोजन फार्मास्युटिकल उद्योग भागीदारों के सहयोग से किया जाता है।

Q . CME Cradit क्या होता है?

Ans : CME प्रोग्राम ज्वाइन करने वाले सभी डॉक्टर्स और मेडिकल प्रोफेशनल्स को उनके द्वारा CME प्रोग्राम्स में इन्वेस्ट किए गए प्रत्येक घण्टे के हिसाब से CME क्रेडिट दिए जाते है जो उन मेडिकल प्रोफेशनल्स के करियर में ग्रोथ के लिए जरूरी हैं।
आज, किसी भी डॉक्टर को निजी या सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों में अभ्यास करते रहने के लिए सतत चिकित्सा शिक्षा (CME) Cradit अर्जित करना अनिवार्य है।
भारत में, 65 वर्ष से कम आयु के सभी प्रैक्टिस करने वाले डॉक्टरों को अपने लाइसेंस का नवीनीकरण कराने के लिए हर 5 साल में 30 घंटे का CME प्रोग्राम पूरा करके CME Cradit अर्जित करना अनिवार्य है।

Q . भारत में डॉक्टर CME (Continuing Medical Education) Cradit कैसे अर्जित कर सकते हैं?

Ans : भारत में डॉक्टर मेडिकल इंस्टीट्यूशन द्वारा आयोजित सेमिनारों और कार्यशालाओं के माध्यम से CME Cradit अर्जित कर सकते हैं। इसके अलावा डॉक्टर्स विभिन्न ऑनलाइन CME एजुकेशन प्रोवाइडर से ऑनलाइन CME कोर्स भी कर सकते हैं।
दुनिया भर के मेडिकल कॉलेज 4 अलग-अलग तरीकों से CME Cradit प्रदान कर रहे हैं।

Free CME Credit Programs 
जैसा कि नाम से पता चलता है कि इन प्रोग्राम्स के द्वारा CME Cradit बिना किसी फीस दिए अर्जित किए जा सकते हैं। इन प्रोग्राम्स में डॉक्टर्स को प्रशिक्षित करने के लिए सेमिनार, वेबिनार, सम्मेलन और विभिन्न ऑनलाइन लर्निंग प्रोग्राम्स आते हैं।

In Person CME Program
यह ऐसे CME Programs है जिसमें डॉक्टरों और अन्य मेडीकल प्रोफेशनल्स की भौतिक उपस्थिति की आवश्यकता होती है। वे आमतौर पर सम्मेलन हॉल और होटलों में आयोजित किए जाते हैं।

Online CME Course
यह CME Programs के सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है। जो दुनिया भर में बहुत प्रसिद्ध है। भारत में, Omnicuris और Medvarsity जैसे प्लेयर्स इस प्रकार के CME Programs की पेशकश कर रहे हैं, जिनमें आप अपने लिविंग रूम में बैठकर भी आराम से भाग लिया जा सकता है।

Hybrid CME Programs
इस प्रकार के CME Programs में भौतिक रूप से भाग लेने के लिए कुछ मॉड्यूल की आवश्यकता होती है और शेष मॉड्यूल को Online Mode के माध्यम से आगे बढ़ाया जा सकता है।

इसे शेयर करें

Leave a Comment