What is CDS Full Form? CDS का Full Form क्या होता है? जानें CDS के बारे में जरूरी बातें…

CDS Full Form

दोस्तों क्या आपने कभी CDS शब्द सुना है? या क्या आप जानते हैं की CDS kya hota hai? CDS की फुल फॉर्म (CDS Full Form) क्या होती है?

नमस्कार दोस्तों the nitin tech.com पर आप सभी का स्वागत है। क्या आप भी इंटरनेट पर CDS के बारे मे (CDS Full Form) ढूंढ रहे है? यदि हाँ तो आज मैं इस आर्टिकल के जरिए आपको CDS kya hota hai? CDS ka Full Form kya hota hai? के बारे में डिटेल में बताने जा रहा हूँ। इस पोस्ट को पढ़कर आप CDS kya hota hai? (CDS Full Form) के बारे में जान सकेंगे।

CDS kya hota hai? (CDS Full Form)

तो दोस्तों आपको बता दें कि CDS की Full Form Combined Defence Services (कंबाइंड डिफेंस सर्विस) होता है।

CDS Full Form : Combined Defense Services

CDS Full Form in Hindi : कंबाइंड डिफेंस सर्विस (हिंदी में अर्थ : संयुक्त रक्षा सेवा)

CDS Full Form : Combined Defense Services

Combined Defense Services (CDS) क्या होता है? What is Combined Defense Services (CDS)

Combined Defence Services यानी CDS एक एग्जाम होता है जो संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के द्वारा आयोजित किया जाता है। भारतीय सैन्य अकादमी (Indian Military Academy), अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी (Officers Training Academy), भारतीय नौसेना अकादमी (Indian Naval Academy) और भारतीय वायु सेना अकादमी (Indian Air Force Academy) में कमीशंड अधिकारियों की भर्ती के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा संयुक्त रक्षा सेवा (CDS) की परीक्षा आयोजित की जाती है ।

जल सेना, वायु सेना और थल सेना भारतीय सुरक्षा बल के अभिन्न अंग हैं। Combined Defence Services (CDS) के एग्जाम के द्वारा कैंडिडेट्स जल सेना, वायु सेना या थल सेना में से किसी में भी अधिकारी की जॉब प्राप्त कर सकता है। 

यह परीक्षा प्रतिवर्ष, साल में दो बार आयोजित की जाती है। परीक्षा के लिए अधिसूचना आमतौर पर दिसंबर और मई के महीनों में जारी की जाती है, और परीक्षाएं क्रमशः अप्रैल और सितंबर में आयोजित की जाती हैं। केवल अविवाहित और ग्रेजुएट किए हुए कैंडिडेट्स ही इस परीक्षा में बैठने के पात्र होते हैं। परीक्षा में सफल उम्मीदवारों को संबंधित अकादमियों में उनके द्वारा आयोजित साक्षात्कार के बाद प्रवेश दिया जाता है।

CDS का एग्जाम ऐसे कैंडिडेट्स के लिए बहुत ही अहम होती है जो कि भारतीय सेना में भर्ती होना चाहते हैं। Union Public Service Commission (UPSC) हर साल, साल में दो बार Combined Defence Services (CDS) की परीक्षा का आयोजन करता है। CDS में आपको सबसे पहले लिखित परीक्षा पास करनी होती है और फिर उसके बाद आपको इंटरव्यू में शामिल होना होता है।

 जिसके बाद सफल होने वाले कैंडिडेट्स को ट्रेनिंग के लिए इंडियन मिलिट्री अकादमी देहरादून, नेवल अकादमी गोवा, एयरफोर्स अकादमी हैदराबाद और ऑफिसर ट्रेनिंग चेन्नई भेजा जाता है। UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) का काम सिर्फ परीक्षा का आयोजन करना मात्र होता है।

Combined Defence Services (CDS) के परीक्षा लिए पात्रता

CDS की परीक्षा तीनों भारतीय सेनाओं में से एक में भर्ती होने के लिए परीक्षा है। हालाँकि तीनों भारतीय सेना में भर्ती के लिए अलग-अलग पात्रता मापदंड है और जो उम्मीदवार सारे पात्रता मापदंड को पूरा करता है वही उम्मीदवार Combined Defence Services (CDS) की परीक्षा के योग्य माना जाता है। 

CDS एग्जाम के लिए आवश्यक शैक्षणिक योग्यता

  • भारतीय सैन्य अकादमी (Indian Military Academy) और ऑफिसर अकादमी के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या समकक्ष से स्नातक डिग्री होनी चाहिए।
  • भारतीय नौसेना अकादमी ( Indian Military Academy) के लिए Chemistry, Maths और Physics के साथ BSC या फिर इंजिनियरिंग की डिग्री होनी चाहिए।
  • वायु सेना अकादमी (Air Force Academy) के लिए मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय की डिग्री के साथ 10+2 में Maths और Physics विषय होने चाहिए या फिर इंजिनियरिंग की डिग्री होनी चाहिए।
इन्हें भी देखें :-  DP Full Form in Hindi | DP का मतलब क्या होता है? जानें DP के बारे में जरुरी बातें

Combined Defence Services (CDS) के एग्जाम के लिए आयु सीमा

  • भारतीय सैन्य अकादमी (IMA) के लिए उम्मीदवार 19 से 24 साल का होना चाहिए।
  • भारतीय नौसेना अकादमी (INA) के लिए उम्मीदवार 19 से 25 साल का होना चाहिए।
  • वायु सेना अकादमी (AFA) के लिए उम्मीदवार 19 से 24 साल का होना चाहिए।
  • अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी (OTA) के लिए उम्मीदवार 19 से 25 साल का होना चाहिए।

Combined Defence Services (CDS) की परीक्षा

Combined Defence Services (CDS) की परीक्षा दो चरणों में होती है- पहला लिखित परीक्षा का चरण और दूसरा इंटरव्यू होता है। अगर उम्मीदवार लिखित परीक्षा में सफल हो जाता है तो उसको इंटरव्यू और मेडिकल के लिए बुलाया जाता है। उसके बाद चयनित उम्मीदवार को ट्रेनिंग के लिए अलग अलग जगह भेज दिया जाता है। अब हम आपको Combined Defence Services (CDS) के परीक्षा के पैटर्न के बारे में बताएंगे।

विषय अंक समय
अंग्रेजी 100     2 घंटे
सामान्य ज्ञान 100 2 घंटे
प्रथमिक गणित 100 2 घंटे

नोट– इसके अलावा अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी (OTA) के लिए होने वाली परीक्षा अंग्रेजी और सामान्य ज्ञान के प्रश्नों पर आधारित होती है।

विषय अंक समय
अंग्रेजी 100 2 घंटे
सामान्य ज्ञान 100 2 घंटे

अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी (OTA) में जाने के लिए मैथ्स का एग्जाम नहीं देना पड़ता है। इसमें सिर्फ सामान्य ज्ञान और अंग्रेजी का पेपर होता है। भारतीय सैन्य अकादमी, भारतीय नौसेना अकादमी और वायुसेना अकादमी तीनों के परीक्षा का पैटर्न तकरीबन एक सा ही होता है।

कैसा होता है Combined Defence Services (CDS) का एग्जाम?

  • CDS का पेपर ऑब्जेक्टिव होता है। गलत जवाब पर निगेटिव मार्किंग भी है।
  • मैथ और इंग्लिश पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है।
  • लिखित परीक्षा तीन चरणों में होती है। पहला पेपर इंग्लिश दूसरा सामान्य ज्ञान और तीसरा होता है गणित।
  • तीनों पेपर 100-100 नंबर यानी कुल तीन सौ अंक का पेपर होता है।
  • लिखित पास करने के बाद कैंडिडेट्स को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।
  • इंटरव्यू में इंटेलिजेंस और पर्सनैलिटी टेस्ट शामिल है।
  • परीक्षा में सफल होने के बाद कैंडिडेट्स को ट्रेनिंग के लिए इंडियन मिलिट्री अकादमी देहरादून, एयरफोर्स अकादमी हैदराबाद, एयरफोर्स अकादमी हैदराबाद और नेवल अकादमी गोवा भेजा जाता है, जहां उन्हें प्रशिक्षण दिया जाता है।

Combined Defence Services (CDS) की तैयारी कैसे करें?

Combined Defence Services (CDS) एग्जाम क्वालीफाई करने के लिए टाइम मैनेजमेंट सबसे जरूरी होता है। क्योंकि मिनिमम टाइम में आपको मैक्सिमम प्रश्न सॉल्व करने हाेते हैं। आंसर गलत होने पर निगेटिव मॉर्किंग भी है। ऐसे में प्रैक्टिस और रिवीजन पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है। हर आंसर के लिए आपको करीब एक मिनट का समय मिलता है। इसलिए क्विक प्रॉब्लम सॉल्विंग बनें।

पिछले कुछ सालों का पेपर जरूर देखें

पिछले कुछ सालों का पेपर जरूर देखें। किस चैप्टर से मैक्सिमम प्रश्न आते हैं उनका औसत निकालें।

उस पर विशेष ध्यान दें। इसके लिए आप मॉक टेस्ट और कोचिंग का सहारा ले सकते हैं। जनरल नॉलेज के लिए 12वीं तक की एनसीईआरटी की बुक पढें। समसामयिक घटनाओं से अपडेट रहने के लिए न्यूज पेपर और मैगजीन पढें।

तैयारी के दौरान इन बातों का भी रखें ध्यान

स्वतंत्रता संग्राम से प्रश्न आते ही आते हैं इस टॉपिक को ठीक से तैयार करें। अंग्रेजी पर कमांड के लिए इंग्लिश न्यूज पेपर, मैगजीन और बुक्स आदि पढ़ने की आदत डालें। लिखने, बाेलने और समझने के लिए नियमित अभ्यास करें। ग्रामर को मजबूत करें। कमजोर टॉपिक्स पर अधिक समय दें।

तो दोस्तों ऊपर आर्टिकल में हमने आपको CDS का फुल फॉर्म (CDS Full Form) : Combined Defence Services के बारे में जानकारी दी है लेकिन दोस्तों CDS का इसके अलावा और भी कुछ अन्य फुल फॉर्म होते हैं जिनके बारे में यहां नीचे बताया गया है :

इन्हें भी देखें :-  What is CMT Full Form? CMT का Full Form क्या होता है?

CDS Full Form in Army 

Chief of Defense Staff

CDS Full Form in Army

Chief of Defence Staff (CDS) एक ऐसा पद है जो भारत की सेना के मामलों में भारत सरकार के एकल-बिंदु सलाहकार के रूप में कार्य करता है।  CDS थल सेना, नौसेना और वायु सेना का प्रमुख होता है और एक चार सितारा सैन्य अधिकारी होता है।

Chief of Defence Staff (CDS) भारतीय सेना में सक्रिय ड्यूटी पर सर्वोच्च रैंक वाला वर्दीधारी अधिकारी और रक्षा मंत्री का मुख्य सैन्य सलाहकार होता है । यह प्रमुख सैन्य मामलों के विभाग का भी प्रमुख होता है। 

यह पद भारतीय सशस्त्र बलों की क्षमताओं के समन्वय, भारत की तीनो सेनाओं की प्रभावशीलता और समग्र एकीकरण में सुधार के उद्देश्य से बनाया गया था। पद के निर्माण के समय, इसके समान कोई अन्य पद नहीं था।

पहले Chief of Defence Staff (CDS) जनरल बिपिन रावत थे जिन्होंने 1 जनवरी 2020 को पदभार ग्रहण किया। 15 दिसंबर 2021 को, जनरल रावत की मृत्यु के बाद, जनरल मनोज मुकुंद नरवणे को Chief of Defence Staff (CDS) कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया।

अगले Chief of Defence Staff (CDS) की नियुक्ति से पहले नियमों में कुछ अहम बदलाव किए गए हैं। अब CDS की नियुक्ति के लिए सरकार उन अधिकारियों पर विचार कर सकती है, जो लेफ्टिनेंट जनरल के समकक्ष या सामान्य समकक्ष के रूप में सेवा कर रहे हैं।

या ऐसे अधिकारी जो लेफ्टिनेंट जनरल या जनरल के पद से सेवानिवृत्त हुए हैं, लेकिन नियुक्ति की तारीख को 62 वर्ष की आयु प्राप्त नहीं की है, उन्हें भी Chief of Defence Staff (CDS) के पद पर सरकार नियुक्त कर सकती है।

 नियुक्ति के वक्त 62 साल की उम्र सीमा लागू होने की वजह से, अब इंडियन आर्मी, नेवी और एयरफोर्स से हाल में रिटायर होने वाले प्रमुख, Chief of Defence Staff (CDS) की दौड़ से बाहर हो चुके हैं। जो अधिकारी सेवारत हैं और उम्र की सीमा पार नहीं की है, वो Chief of Defence Staff (CDS) बन सकते हैं। 

तीन स्टार वाले जनरल यानी लेफ्टिनेंट जनरल, इंडियन एयरफोर्स के एयर मार्शल या फिर नौसेना के वाइस एडमिरल 60 की उम्र में रिटायर होते हैं। यानी अगर ये रिटायर हो भी गए और उम्र 62 से कम है तो भी CDS बन सकते हैं और अधिकतम 65 वर्ष की आयु होने तक इस पद पर बने रह सकते हैं।

CDS Full Form in Medical

Clinical Decision Support

CDS Full Form in Medical

Clinical Decision Support सिस्टम (CDS) एक प्रोग्राम मॉड्यूल है जो मेडिकल प्रोफेशनल्स को मरीजों की देखभाल के स्थान पर ही उनके मेडिकल संबंधी निर्णय लेने में मदद करता है। यह मेडिकल प्रोफेशनल्स को मरीजों के इलाज और उन पर दवा के प्रभाव के बारे में जानकारी देता है।

Kudumbashree CDS Full Form

Kudumbashree Community Development Society

कुदुम्बश्री की कल्पना केरल सरकार के एक संयुक्त कार्यक्रम के रूप में की गई थी, जिसे गरीब महिलाओं की कम्युनिटी डेवलेपमेंट सोसाइटी (CDS) के माध्यम से लागू किया गया था, जो स्थानीय सरकारों के सामुदायिक विंग के रूप में कार्यरत हैं।  कुदुम्बश्री नेबरहुड ग्रुप्स (NHG), एरिया डेवलपमेंट सोसाइटीज़ (ADS) और कम्युनिटी डेवलपमेंट सोसाइटी (CDS) से मिलकर बने त्रि-स्तरीय सामुदायिक संगठन के माध्यम से महिला सशक्तिकरण, स्थानीय आर्थिक विकास और गरीबी उन्मूलन की दिशा में काम करना इनका उद्देश्य है।

CDS Full Form in Banking

Credit Default Swaps 

CDS Full Form in Banking

 Credit Default Swaps (CDS) एक फाइनेंशियल डेरिवेटिव या कॉन्ट्रैक्ट होता है जो एक निवेशक को किसी अन्य निवेशक के साथ अपने क्रेडिट जोखिम को स्वैप या ऑफसेट करने की अनुमति देता है। डिफ़ॉल्ट के जोखिम को स्वैप करने के लिए, ऋणदाता किसी अन्य निवेशक से एक CDS खरीदता है जो उधारकर्ता के चूक होने पर उन्हें प्रतिपूर्ति करने के लिए सहमत होता है।

FAQ About CDS Full Form

Q. CDS का फुल फॉर्म क्या होता है? What is CDS Full Form?

Ans : CDS की Full Form Combined Defence Services (कंबाइंड डिफेंस सर्विस) होता है।
CDS Full Form : Combined Defense Services
CDS Full Form in Hindi : कंबाइंड डिफेंस सर्विस (हिंदी में अर्थ : संयुक्त रक्षा सेवा)
Combined Defence Services यानी CDS एक एग्जाम होता है जो संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के द्वारा आयोजित किया जाता है। भारतीय सैन्य अकादमी (Indian Military Academy), अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी (Officers Training Academy), भारतीय नौसेना अकादमी (Indian Naval Academy) और भारतीय वायु सेना अकादमी (Indian Air Force Academy) में कमीशंड अधिकारियों की भर्ती के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा संयुक्त रक्षा सेवा (CDS) की परीक्षा आयोजित की जाती है ।

इन्हें भी देखें :-  What is USPA Full Form? USPA का Full Form क्या होता है? जानें USPA के बारे में जरूरी बातें…
Q. सेना में CDS क्या होता है? What is CDS in the Army?

Ans : सेना में CDS का मतलब Chief of Defence Staff (चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ) होता है।
CDS Full Form in Army : Chief of Defense Staff
Chief of Defence Staff (CDS) एक ऐसा पद है जो भारत की सेना के मामलों में भारत सरकार के एकल-बिंदु सलाहकार के रूप में कार्य करता है।  CDS थल सेना, नौसेना और वायु सेना का प्रमुख होता है और एक चार सितारा सैन्य अधिकारी होता है।
Chief of Defence Staff (CDS) भारतीय सेना में सक्रिय ड्यूटी पर सर्वोच्च रैंक वाला वर्दीधारी अधिकारी और रक्षा मंत्री का मुख्य सैन्य सलाहकार होता है । यह प्रमुख सैन्य मामलों के विभाग का भी प्रमुख होता है।

Q. CDS के एग्जाम के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए? What is CDS Qualification?

Ans : CDS एग्जाम देने के लिए योग्यता :
 इंडियन मिलिट्री एकेडमी के एग्जाम में शामिल होने के लिए मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में ग्रेजुएट होना जरूरी है। नेवी के लिए इंजीनियरिंग में बैचलर डीग्री जरूरी है। एयरफोर्स एकेडमी की परीक्षा के लिए ग्रेजुएट होने के साथ 12वीं में मैथ और फिजिक्स सब्जेक्ट होना कंपल्सरी है। भारतीय सैन्य अकादमी के लिए उम्र 19 से 23 साल होनी चाहिए, भारतीय नौसेना अकादमी के लिए उम्र 19 से 23 होनी चाहिए, वायु सेना अकादमी के लिए उम्र 20 से 24 होनी चाहिए, अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी के लिए उम्र 19 से 24 साल होनी चाहिए, साथ ही कैंडिडेट्स अविवाहित हो।

Q. क्या CDS का एग्जाम कठीन होता है? Is CDS a Tough Exam?

Ans : हां, CDS का एग्जाम कठीन होता है।

Q. क्या 12वी पास स्टूडेंट CDS के एग्जाम के लिए एप्लाई कर सकता है? Can 12th pass apply for CDS?

Ans : नही, कोई भी 12वी पास छात्र CDS का एग्जाम नहीं दे सकता क्योंकि CDS के एग्जाम के लिए पात्र होने के लिए उम्मीदवार द्वारा आवश्यक न्यूनतम शिक्षा योग्यता यह है कि उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / कॉलेज से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। इसलिए जब तक आप अपना स्नातक पाठ्यक्रम पूरा नहीं करते हैं, आप CDS के एग्जाम लिए पात्र नहीं होंगे। इसके अलावा CDS के एग्जाम लिए पात्र होने की आयु सीमा 19-24 वर्ष के बीच है। 

Q. क्या CDS में 12वीं के अंक मायने रखते हैं? Does 12th Marks Matter in CDS?

Ans:  नहीं CDS के एग्जाम के लिए आपके 12वी के अंक मायने नहीं रखते हैं। आपको CDS के एग्जाम में बैठने के लिए किसी मान्यता प्राप्त कालेज से ग्रेजुएट कंप्लीट करना आवश्यक होता है।

इसे शेयर करें

Leave a Comment